कानपुर : छोटे भाई को गोली मारकर हत्या करने वाले कलयुगी भाई को पुलिस ने 12 घंटे में दबोचा।

डीसीपी साउथ का बयान कानपुर में एक बड़े भाई ने छोटे भाई की गोली मारकर हत्या कर दी थी. दोनों छत पर...

दवा व्यापारी से मारपीट: भाजपा नेता और अन्य आरोपियों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित।

संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी का बयान Kanpur News: दोनों पक्षों के इस घटना लेकर...

कानपुर : CM की कानून व्यवस्था समीक्षा में सीसामऊ और अनवरगंज सर्किल अव्वल, कोतवाली सर्किल फिस्सडी।

सीएम योगी ने कानून व्यवस्था की समीक्षा की टॉप 10 सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले बदायूं का...

CM योगी ने महिलाओं के लिए प्रदेश के हर जिले में एक थाने का कोटा किया आरक्षित।

महिला आरक्षण बिल पास होने के बाद देश का पहला प्रदेश बना यूपी जहां प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी...

Law And Order Meeting: योगी ने ली कप्तानों और कोतवालों की क्लास, प्रयागराज के पुलिस कमिश्नर को भी मिली फटकार

Lucknow News: कानून व्यवस्था और अपराध को लेकर सीएम योगी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से महाबैठक...

सीटबेल्ट लगाने के बावजूद नहीं खुला एयरबैग; इकलौते बेटे की मौत, पिता ने आनंद महिंद्रा समेत 13 पर दर्ज करायी FIR..

कानपुर में सड़क हादसे में स्कॉर्पियो सवार युवक की मौत के मामले में आनंद महिंद्रा समेत कंपनी के 13...

Kanpur News: सड़क पर शराब के नशे में बीजेपी नेता का हाईवेल्टेज ड्रामा, युवक को पीट-पीटकर किया मरणासन्न।

कानपुर-भाजपा के पार्षद पति शराब के नशे में युवक की जमकर पिटाई,ओवरटेक करते समय पास ना मिलने पर...

Allahabad High Court में बढ़ी स्थायी न्यायाधीशों की संख्या, मिले 7 नए जज, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने दी मंजूरी

Prayagraj News: इलाहाबाद हाईकोर्ट के सात एडिश्नल जजों को स्थाई न्यायधीश बनाए जाने को लेकर...

कानपुर: मॉल कर्मी युवती से लूटपात और सामूहिक दुष्कर्म, लोकलाज के डर से नहीं बताई थी आपबीती, तीन गिरफ्तार..

Kanpur Crime: युवती और उसके मित्र को जब पुलिस की कार्रवाई पर भरोसा हुआ, तो उसने घटना की सच्चाई...

UP Cabinet Expansion: क्यों नहीं हो पा रहा यूपी में मंत्रिमंडल का विस्तार? BJP की रणनीति में आए बदलाव की ये है वजह

UP News: उत्तर प्रदेश में महिला आयोग, गौ सेवा आयोग, एससी एसटी आयोग, पिछड़ा वर्ग आयोग समेत दर्जन भर...
Information is Life

Uttar Pradesh News: उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात (Kanpur) में अतिक्रमण हटाने के दौरान मां-बेटी की जिंदा जल कर मौत हो गई. अब इस घटना को लेकर प्रदेश में सियासत तेज हो गई है. समाजवादी पार्टी के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है अखिलेश ने ट्वीट में लिखा “शासन-प्रशासन जब अभय एवं निर्भय की जगह भय और उत्पीड़न के प्रतीक बन जाएं तो समझ लेना चाहिए उनका अंत निकट है।”

बता दें कि मृतक मां प्रमिला और बेटी की मौत के साथ ही पति कृष्ण गोपाल दीक्षित भी बुरी तरह से झुलस गए हैं. वहीं कानपुर रेंज के आईजी, एडीजी सहित कमिश्नर राज शेखर भी मौके पर पहुंचे थे. दरअसल, कानपुर देहात में प्रशासन सरकारी जमीन से अवैध कब्जा हटाने के लिए पहुंची थी, लेकिन जिस घर को गिराया जा रहा था वो लोग खुद को आग लगाने की धमकी दे रहे थे.तभी प्रदर्शन के दौरान ही अचानक वहां पर आग लग गई, जिसमें मां-बेटी की जिंदा जलकर मौत हो गई.

क्या है पूरा मामला
पीड़ित ने कानपुर देहात के मैथा तहसील में तैनात एसडीएम ज्ञानेश्वर प्रसाद और रूरा थाना प्रभारी दिनेश कुमार गौतम समीर लेखपाल अशोक सिंह को आरोपी बताया है. पीड़ित परिवार का आरोप यह है कि कब्जे को ध्वस्त करने के चलते प्रशासनिक अधिकारियों ने मिलकर कृष्ण गोपाल दीक्षित के परिवार को झोपड़ी में जबरन कैद कर उस पर आग लगा दिया. इसके चलते झोपड़ी के अंदर फंसी मां-बेटी को आग ने अपनी चपेट में ले लिया और दोनों की झुलस कर मौत हो गई. इसके बाद कानपुर देहात के मंडोली गांव में पुलिस और प्रशासन पर ग्रामीणों और परिजनों ने हमला कर दिया. घटना की जानकारी मिलते ही कानपुर रेंज के आईजी और एडीजी जून सहित मंडलायुक्त राजशेखर भी मौके पर पहुंचे.

परिवार ने लगाया ये आरोप
वहीं कुछ ही देर में कानपुर देहात से लेकर कानपुर नगर तक के अधिकारियों का अमला इस गांव में पहुंच कर इसे छावनी में तब्दील कर दिया. वहीं पीड़ित कृष्ण कुमार दीक्षित का कहना है कि उनका परिवार काफी लंबे समय से इस भूमि पर काबिज है. इस वजह से उनके परिवार के ही रिश्तेदार उनका विरोध करते चले आ रहे हैं और प्रशासनिक अधिकारियों से मिलीभगत कर उन्होंने उनकी झोपड़ी में आग लगवा दी. इसके चलते उनकी बेटी और पत्नी की आग से जलकर मौत हो गई. वहीं देर रात तक प्रशासन परिवार को समझाने की कोशिश करता रहा और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने का प्रयास कर रहा था.

परिवार ने की ये मांग
वहीं परिवार लगातार अपनी मांगों को लेकर अड़ा रहा इसमें 50 लाख परिवार के लिए मुआवजा, घर के दो बेटों के लिए सरकारी नौकरी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से तत्काल प्रभाव से मुलाकात और साथ ही परिवार को आजीवन पेंशन की मांग रखी है. वहीं कानपुर देहात पुलिस ने 11 नामजद लोगों के साथ-साथ एक कई अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है. इस मुकदमे में कानपुर देहात के मैथा तहसील के एसडीएम ज्ञानेश्वर प्रसाद लूंगा, थाना प्रभारी दिनेश गौतम और लेखपाल अशोक सिंह को मुख्य आरोपी बनाकर 307, 302 जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर दिया है.


Information is Life