Kanpur : MLA अमिताभ बाजपेयी Satarday को देंगे गिरफ्तारी, Police Commissioner को पत्र भेजकर दी सूचना।

कानपुर : पुलिस से झड़प में सपा विधायक व कांग्रेस प्रत्याशी समेत 200 लोगों पर दर्ज मुकदमें में सपा...

कानपुर के “हर्षद मेहता” शेयर ब्रोकर संजय सोमानी को 22 करोड़ के घोटाले में 3 और सीए को 5 साल की सजा।

वर्ष 1994 में इलाहाबाद बैंक कानपुर में हुआ था घोटाला, 30 साल बाद आया फैसला लखनऊ। बहुचर्चित संजय...

IAS-IPS अफसरों की सियासत में एंट्री : आज इस्तीफा कल चुनाव।

IAS-IPS In Politics : 1993 में केंद्रीय गृह सचिव नरिंदर नाथ वोहरा की अगुआई में एक कमेटी बनी। इसे...

IIT से बीटेक, फिर IPS और अब IAS टॉपर काफी रोचक है आदित्य श्रीवास्तव की कहानी

आदित्य के पिता अजय श्रीवास्तव सेंट्रल ऑडिट डिपार्टमेंट में AAO के पद पर कार्यरत हैं। छोटी बहन...

कानपुर लोकसभा चुनाव 2024 : विकास के लिए समर्पित सांसद को चुनेंगे मतदाता।

(अभय त्रिपाठी) कानपुरः यूपी की कानपुर लोकसभा सीट को मैनचेस्टर ऑफ यूपी के नाम से जानी जाती है।...

Kanpur : भाजपा प्रत्याशी रमेश अवस्थी ने इंडी गठबंधन के प्रभाव वाले कैन्ट, आर्यनगर और सीसामऊ में तेज की कदमताल..

आर्यनगर की गलियों में जाकर जनता से मिले, मिला जनसमर्थन कानपुर। जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ...

Kanpur : भाजपा प्रत्याशी रमेश अवस्थी ने इंडी गठबंधन के प्रभाव वाले कैन्ट, आर्यनगर और सीसामऊ में तेज की कदमताल..

-आर्यनगर की गलियों में जाकर जनता से मिले, मिला जनसमर्थन कानपुर। जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ...

इतिहास के पन्नों में : कानपुर के इस इलाके को आखिर कैसे मिला तिलक नगर नाम??

(अभय त्रिपाठी) कानपुर : उत्तर प्रदेश की राजधानी तो नहीं है, पर इस सूबे का सबसे खास शहर तो है। एक...

#Kanpur : लोकसभा प्रत्याशी आलोक मिश्र और विधायक समेत 200 लोगों पर केस दर्ज, अमिताभ बोले लोकतंत्र नहीं लाठीतंत्र।

यूपी के कानपुर (Kanpur) में इंडिया गठबंधन (India Alliance) के लोकसभा प्रत्याशी और समाजवादी पार्टी...

Kanpur : चोरों के हौसले बुलंद,स्वरूप नगर में दिनदहाड़े चोर स्कूटी लेकर रफूचक्कर।

कानपुर : बेखौफ अपराधी पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए शहर में ताबड़तोड़ चोरी की वारदातों...
Information is Life

कानपुर देहात अग्निकांड पर यूपी की राजनीति गरमा गई है। मां और बेटी के झोपड़ी गिराए जाने के दौरान जिंदा जलकर मौत मामले में कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने सरकार और स्थानीय प्रशासन को घेर लिया है। वहीं, परिजन मुआवजे की मांग को लेकर अड़ गए हैं।

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात जिले के रूरा थाना क्षेत्र स्थित मडौली गांव में अग्निकांड का मामला अब राजनीतिक रूप लेता जा रहा है। अतिक्रमण हटाने गई टीम के विरोध में परिवार के लोगों ने हंगामा किया। कार्रवाई नहीं करने की मांग की। इसके बाद 44 वर्षीय प्रमिला दीक्षित और उनकी बेटी 19 वर्षीय बेटी नेहा दीक्षित ने खुद को झोपड़ी में बंद कर लिया। प्रशासन की अतिक्रमण हटाओ टीम ने झोपड़ी पर बुलडोजर चलवा दिया। इसके बाद झोपड़ी में आग लग गई। इसमें दोनों की जलकर मौत हो गई। इस मौत के मामले के बाद राजनीति शुरू हो गई है। समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने इस मामले पर प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ हमला बोल दिया है। समाजवादी पार्टी पूरे मामले को ब्राह्मणों से जोड़कर पेश करने लगी है। योगी सरकार पर ब्राह्मणों के खिलाफ कार्रवाई का मुद्दा गरमा दिया गया है। वहीं, सरकार के दोनों डिप्टी सीएम विपक्ष के हमलों के जवाब में सामने आ गए हैं। वहीं, कानपुर देहात एसपी इस पूरी घटना के संबंध में दावा है कि दोनों ने खुद आग लगा ली थी। हालांकि, सवाल यह उठ रहा है कि प्रशासन की टीम के रहते अगर आग लगी तो उस पर काबू का प्रयास क्यों नहीं किया गया? ग्रामीणों का आक्रोश गहराया हुआ है। वे शवों को उठने नहीं दे रहे हैं। मुआवजे की मांग की जा रही है।
ग्रामीण कर रहे मुआवजे की मांग

ग्रामीण मृतक महिला प्रमिला दीक्षित के पति कृष्ण गोपाल को 50 लाख रुपए का मुआवजा देने की मांग की है। इसके अलावा परिवार के दोनों बेटों को सरकारी नौकरी और दोषी अधिकारियों की गिरफ्तारी की मांग की जा रही है। लोग घटनास्थल पर सीएम योगी आदित्यनाथ को बुलाए जाने की मांग भी कर रहे हैं। लोगों के भड़के गुस्से को शांत करने के लिए प्रशासन की टीम ने भारी संख्या में गांव में पुलिस बलों की तैनाती की है। इस मामले में कानपुर पुलिस ने 23 नामजद लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। इस मुकदमे में कानपुर देहात के मैथा तहसील के एसडीएम ज्ञानेश्वर प्रसाद लूंगा, थाना प्रभारी दिनेश गौतम और लेखपाल अशोक सिंह को मुख्य आरोपी बनाकर 307, 302 जैसी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर दिया है।

दोनों डिप्टी सीएम का आया बयान

यूपी के दोनों डिप्टी सीएम का घटना पर बयान सामने आया है। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि कानपुर देहात की घटना पर सरकार ने संज्ञान लिया है। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। कोई भी जांच में बच नहीं पाएगा। घटना दुखद है, ऐसी परिस्थिति में जांच की जा रही है। जो लोग भी शामिल होंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कहा कि इस पूरे मामले में कार्रवाई होगी। दोषियों को कोई कार्रवाई होगी। कोई भी दोषी इस मामले में बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने मामले में समाजवादी पार्टी पर राजनीति करने का आरोप लगाया। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। हम केवल राजनीतिक बात नहीं करते हैं। हम कार्रवाई करेंगे। दोषी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी पर सख्त से सख्त कार्रवाई होगी। राज्य मंत्री प्रतिभा शुक्ला भी मौके पर पहुंचीं। उन्होंने कहा कि कमिश्नर यहां पर आए हैं। वे न्याय करेंगे। हमलोग मुख्यमंत्री के नुमाइंदे हैं। लेखपाल से लेकर तमाम दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई होगी।


Information is Life