Jyoti Murder Case Kanpur: हत्यारें पीयूष को न्यायालय से राहत नहीं…

अपर जिला जज कोर्ट ने 2022 में सुनाई थी छह को उम्र कैद की सजा.. उच्च न्यायालय से नहीं मिली राहत तो...

Kanpur लायर्स चुनाव का परिणाम घोषित,अध्यक्ष श्याम नारायण सिंह और अभिषेक तिवारी बने महामंत्री।

कानपुर : लायर्स एसोसिएशन के नये अध्यक्ष और महामंत्री चुन लिये गये हैं। .बुधवार देर शाम अध्यक्ष पद...

कानपुर के पोस्टर पर मचा बवाल राहुल गांधी ‘कृष्ण’ और अजय राय बने अर्जुन….

राहुल गांधी की भारत जोड़ा न्याय यात्रा कानपुर पहुंची है. कानपुर के एक कांग्रेस नेता द्वारा लगवाया...

पश्चिम बंगाल में रिपब्लिक बांग्ला के रिपोर्टर को किया गिरफ्तार,जर्नलिस्ट क्लब ने की कड़ी निन्दा।

पश्चिम बंगाल में ‘रिपब्लिक बांग्ला’ टीवी न्यूज़ चैनल के पत्रकार सन्तु पान को गिरफ्तार कर लिया गया...

रेड टेप कल्चर’ को ‘रेड कार्पेट कल्चर’ में बदला, UP ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में बोले PM मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं जब भी विकसित भारत की बात करता हूं तो इसके लिए नई सोच की बात करता...

IPS Amitabh Yash: एनकाउंटर स्पेशलिस्ट अमिताभ यश बने यूपी के नए ADG ला एंड ऑर्डर, जाने इनके बारे में।

IPS Amitabh Yash: यूपी पुलिस के सबसे चर्चित अधिकारियों में शामिल आईपीएस अमिताभ यश एडीजी ला एंड...

Kanpur News : पूर्व शिक्षा मंत्री अमरजीत सिंह जनसेवक का निधन

पूर्व शिक्षा मंत्री अमरजीत सिंह जनसेवक (71) का निधन हो गया है। बताया जा रहा है कि ठंड लगने से...

यूपी में पांच आईपीएस अफसरों का तबादला। विपिन मिश्रा कानपुर में एडिशनल सीपी।

यूपी में पांच आईपीएस अफसरों का तबादला। विपिन मिश्रा कानपुर में एडिशनल सीपी। कमलेश दीक्षित डीसीपी...

#Kanpur News : जेके कैंसर बने रीजनल सेंटर, बढ़ेंगी सुविधाएं…

➡️चौथी बार उठी मांग, विधानसभा की याचिका कमेटी को दिया गया पत्र। कानपुर। जेके कैंसर को रीजनल सेंटर...
Information is Life

कानपुर में बुलियन, ज्वेलरी और रियल एस्टेट कारोबारियों के प्रतिष्ठानों में चार दिन से चल रही आयकर विभाग ( IT) की छापेमारी मंगलवार को खत्म हो गई। 300 अफसरों ने 95 घंटे की रेड में 600 करोड़ के फर्जी लेन-देन पकड़े। ज्वैलर्स के ठिकानों पर रेड के दौरान 25 करोड़ रुपए की नकदी और करीब 70 किलो सोना-चांदी सीज किया है। इसकी तस्वीरें भी सामने आईं हैं।

दरअसल, अधिकारियों ने सोमवार सुबह तक 16 करोड़ का कैश जब्त किया था। उन्हें बिरहाना रोड पर एक बंद दुकान में बड़े पैमाने पर कैश होने की जानकारी मिली। टीम सोमवार शाम को वहां पहुंची, यहां शटर खुलवाकर जब जांच की गई, तो कपड़े के एक गट्‌ठर में 9 करोड़ कैश मिला था। इसी तरह मंगलवार सुबह तक करीब 25 करोड़ कैश टीम जब्त कर चुकी है। IT अफसर का दावा है कि UP में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए सबसे बड़ी कार्रवाई है।

50 से ज्यादा बेनामी संपत्ति, 100 करोड़ टैक्स चोरी
IT सूत्रों के मुताबिक, टीम ने 50 से अधिक बेनामी संपत्तियों के दस्तावेज जब्त किए हैं। साथ ही, 100 करोड़ रुपए की कर चोरी पकड़ी गई है। कारोबारियों के सफेदपोश साथियों के बारे में भी पता चला है। उनमें से कुछ कारोबारियों को बुलाकर पूछताछ भी की गई है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है। कानपुर में कुल 17 ठिकानों पर छापामारी हुई, जबकि देश में 55 से ज्यादा प्रतिष्ठान पर IT टीमों ने कार्रवाई की है।

1700 करोड़ के लेन-देन में पकड़ी गई टैक्स चोरी
कानपुर में कैलाश नाथ अग्रवाल की राधा मोहन पुरुषोत्तम दास ज्वैलर्स प्राइवेट लिमिटेड और अमरनाथ अग्रवाल की राधा मोहन पुरुषोत्तम दास ज्वैलर्स का सालाना टर्न ओवर 1700 करोड़ रुपए का है। आयकर अधिकारी इसी लेनदेन में टैक्स चोरी की जांच कर रहे थे। इसके तार एमराल्ड के प्रमोटर संजीव झुनझुनवाला, चांदी कारोबारी मुन्ना जखोदिया और सौरभ वाजपेयी से जुड़े। इसलिए आयकर विभाग ने सभी के प्रतिष्ठानों में एक साथ छापा मारा।

आयकर अधिकारियों को कर चोरी की कड़ी से कड़ी मिलती गई। इस रेड में करीब 100 करोड़ की टैक्स चोरी पकड़ी गई है। ऐसे दस्तावेज मिले हैं, जो बताते हैं कि कारोबारी काला धन बेनामी संपत्ति में खपा रहे थे। कारोबारियों ने एक रियल एस्टेट कारोबारी के जरिए बड़ी संख्या में फ्लैट खरीदे।

लखनऊ, दिल्ली, कोलकाता में खपाया 500 करोड़
आयकर अधिकारियों को रियल एस्टेट में पैसा लगाने की जानकारी मिली थी। ये फंड कोलकाता और दिल्ली के कारोबारियों के जरिए कानपुर में निवेश किया जा रहा था। इसीलिए आयकर विभाग ने लखनऊ, दिल्ली और कोलकाता में भी छापा मारा। सूत्रों के मुताबिक, करीब 500 करोड़ रुपए से ज्यादा रकम रियल एस्टेट में खपाई गई है। इन संपत्तियों की जांच भी आयकर विभाग की टीम कर रही है।
कानपुर के कारोबारियों पर IT रेड, 25 करोड़ कैश मिला:300 अफसरों ने 95 घंटे में 600 करोड़ के फर्जी लेन-देन, 100 करोड़ की टैक्स चोरी पकड़ी

कानपुर2 घंटे पहले
कानपुर में आयकर विभाग ने ज्वैलरी कारोबारियों के यहां छापेमारी में 25 करोड़ का कैश बरामद किया है। – Dainik Bhaskar
कानपुर में आयकर विभाग ने ज्वैलरी कारोबारियों के यहां छापेमारी में 25 करोड़ का कैश बरामद किया है।
कानपुर में बुलियन, ज्वेलरी और रियल एस्टेट कारोबारियों के प्रतिष्ठानों में चार दिन से चल रही आयकर विभाग ( IT) की छापेमारी मंगलवार को खत्म हो गई। 300 अफसरों ने 95 घंटे की रेड में 600 करोड़ के फर्जी लेन-देन पकड़े। ज्वैलर्स के ठिकानों पर रेड के दौरान 25 करोड़ रुपए की नकदी और करीब 70 किलो सोना-चांदी सीज किया है। इसकी तस्वीरें भी सामने आईं हैं।

दरअसल, अधिकारियों ने सोमवार सुबह तक 16 करोड़ का कैश जब्त किया था। उन्हें बिरहाना रोड पर एक बंद दुकान में बड़े पैमाने पर कैश होने की जानकारी मिली। टीम सोमवार शाम को वहां पहुंची, यहां शटर खुलवाकर जब जांच की गई, तो कपड़े के एक गट्‌ठर में 9 करोड़ कैश मिला था। इसी तरह मंगलवार सुबह तक करीब 25 करोड़ कैश टीम जब्त कर चुकी है। IT अफसर का दावा है कि UP में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए सबसे बड़ी कार्रवाई है।

बिरहाना रोड की दुकान से 9 करोड़ कैश सोमवार शाम को बरामद किए। यह राशि कपड़े के बैग्स में रखी थी।
बिरहाना रोड की दुकान से 9 करोड़ कैश सोमवार शाम को बरामद किए। यह राशि कपड़े के बैग्स में रखी थी।
50 से ज्यादा बेनामी संपत्ति, 100 करोड़ टैक्स चोरी
IT सूत्रों के मुताबिक, टीम ने 50 से अधिक बेनामी संपत्तियों के दस्तावेज जब्त किए हैं। साथ ही, 100 करोड़ रुपए की कर चोरी पकड़ी गई है। कारोबारियों के सफेदपोश साथियों के बारे में भी पता चला है। उनमें से कुछ कारोबारियों को बुलाकर पूछताछ भी की गई है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है। कानपुर में कुल 17 ठिकानों पर छापामारी हुई, जबकि देश में 55 से ज्यादा प्रतिष्ठान पर IT टीमों ने कार्रवाई की है।

1700 करोड़ के लेन-देन में पकड़ी गई टैक्स चोरी
कानपुर में कैलाश नाथ अग्रवाल की राधा मोहन पुरुषोत्तम दास ज्वैलर्स प्राइवेट लिमिटेड और अमरनाथ अग्रवाल की राधा मोहन पुरुषोत्तम दास ज्वैलर्स का सालाना टर्न ओवर 1700 करोड़ रुपए का है। आयकर अधिकारी इसी लेनदेन में टैक्स चोरी की जांच कर रहे थे। इसके तार एमराल्ड के प्रमोटर संजीव झुनझुनवाला, चांदी कारोबारी मुन्ना जखोदिया और सौरभ वाजपेयी से जुड़े। इसलिए आयकर विभाग ने सभी के प्रतिष्ठानों में एक साथ छापा मारा।

आयकर अधिकारियों को कर चोरी की कड़ी से कड़ी मिलती गई। इस रेड में करीब 100 करोड़ की टैक्स चोरी पकड़ी गई है। ऐसे दस्तावेज मिले हैं, जो बताते हैं कि कारोबारी काला धन बेनामी संपत्ति में खपा रहे थे। कारोबारियों ने एक रियल एस्टेट कारोबारी के जरिए बड़ी संख्या में फ्लैट खरीदे।

कानपुर के 17 ठिकानों पर छापामारी की गई। इस दौरान लोकल पुलिस का सपोर्ट लिया गया।
कानपुर के 17 ठिकानों पर छापामारी की गई। इस दौरान लोकल पुलिस का सपोर्ट लिया गया।
लखनऊ, दिल्ली, कोलकाता में खपाया 500 करोड़
आयकर अधिकारियों को रियल एस्टेट में पैसा लगाने की जानकारी मिली थी। ये फंड कोलकाता और दिल्ली के कारोबारियों के जरिए कानपुर में निवेश किया जा रहा था। इसीलिए आयकर विभाग ने लखनऊ, दिल्ली और कोलकाता में भी छापा मारा। सूत्रों के मुताबिक, करीब 500 करोड़ रुपए से ज्यादा रकम रियल एस्टेट में खपाई गई है। इन संपत्तियों की जांच भी आयकर विभाग की टीम कर रही है।

बिरहाना रोड स्थित फर्म के हेड ऑफिस में की गई छापेमारी।
बिरहाना रोड स्थित फर्म के हेड ऑफिस में की गई छापेमारी।
रिश्तेदार, ड्राइवर और नौकर को बना रखा है डायरेक्टर
सूत्रों के मुताबिक, कारोबारियों ने काला धन खपाने के लिए फर्जी कंपनी भी बना रखी है। जिसमें कारोबारियों के रिश्तेदार के साथ नौकर और ड्राइवर डायरेक्टर हैं। इनके जरिए कारोबारियों ने 600 करोड़ रुपए का बोगस लेनदेन भी किया गया। इसका कारोबारी हिसाब नहीं दे पाए हैं। यह खेल अधिकारियों ने फार्म 60 से पकड़ा था।

नोट गिनने के लिए मशीन मंगाई
आयकर अधिकारियों ने पांचवें दिन छापे की कार्यवाही पूरी कर ली है। इसलिए अधिकारियों ने मशीनों से नोट गिनने के बाद उनको पैक कर लिया। साथ ही सोने की बिस्किट और ज्वैलरी का भी पूरा मूल्यांकन कर उनको भी पैक कर लिया।

इसके अलावा लैपटॉप की हार्ड डिस्क, फर्जी बिल, प्रॉपर्टी और बोगस कंपनी के दस्तावेजों को एक जगह एकत्र किया गया है। एक BMW कार से 12 किलो गोल्ड जब्त किया गया। वहीं करीब इस अभियान में 70 किलो सोना और चांदी भी आयकर विभाग ने जब्त किया है।

300 अधिकारियों ने 95 घंटे की पड़ताल
आयकर के छापे में पहले 250 अधिकारी शामिल थे, लेकिन जांच का दायरा बढ़ने पर 50 अधिकारियों को और बुलाया गया था। इन अधिकारियों ने पांच दिन में करीब 95 घंटे काम किया है। बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स की तैनाती भी की गई थी..


Information is Life