Kanpur : दबंगो ने प्लाट में किया कब्जा माँग रहे रंगदारी, पुलिस कमिश्नर ने दिए कार्यवाही के निर्देश।

उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने जहाँ सख्त निर्देश जारी कर रखे हैं कि किसी की जमीन पर अवैध...

लखनऊ : रिटायर्ड आईपीएस प्रेम प्रकाश ने ज्वाइन किया बीजेपी।

-BJP ज्वाइन करने पर बोले रिटायर्ड IPS प्रेम प्रकाश –देश का कर्ज उतारने का मौका मिला...

Kanpur : एंडोक्राइन सोसाइटी आफ इंडिया तथा संयोजक डॉ.शिवेन्द्र वर्मा ने सेटेलाइट सिंपोजियम का किया आयोजन।

कानपुर : रविवार को एंडोक्राइन सोसाइटी ऑफ इंडिया की तरफ से डॉक्टर शिवेंद्र वर्मा की अगुआई में...

Uptvlive Kanpur : रील और वीडियो देखना आपको बना रहा है एडिक्ट – चेतन भगत

द स्पोर्ट्स हब ने दिया चेतन भगत से रूबरू होने का मौका लोकप्रिय भारतीय लेखक और प्रेरक वक्ता हैं...

RCB ने किया IPL के इतिहास का सबसे बड़ा कमबैक, RCB ने लगातार 6 Match जीतकर प्लेऑफ के लिये क्वालीफाई किया..

बेंगलुरु: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में ऐसा कभी नहीं हुआ कि कोई टीम सीजन के लीग चरण में अपने पहले...

प्रयागराज : गुंडा एक्ट के दुरुपयोग पर दो माह में हर्जाना देने का निर्देश..

प्रयागराज : इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक आपराधिक केस के आधार पर जारी गुंडा नियंत्रण कानून की धारा-3 के...

Uptvlive Kanpur : मांग में तेजी से एक हफ्ते में 6 हजार रुपये बढ़ी चांदी, सोने का भी नया रिकार्ड..

कानपुर : जबरदस्त मांग के चलते चांदी की कीमत में लगातार वृद्धि हो रही है। पिछले एक सप्ताह में ही...

जीएसटी पोर्टल की नई पहल: पान मसाला और तंबाकू निर्माताओं के लिए मशीन पंजीकरण और रिपोर्टिंग अनिवार्य

पान मसाला और तंबाकू क्षेत्रों में कर चोरी से निपटने के प्रयास में, जीएसटी पोर्टल ने निर्माताओं के...

पान मसाला कंपनियों पर लोकसभा चुनाव के बाद शुरू होगी कार्रवाई।

“कंपनियों को 15 मई तक देनी थी सूचना, जिन मशीनों के बारे में जानकारी नहीं दी गई होगी वे सीज...

जिला अदालतों के न्यायकक्षों में लगाए जाएं सीसीटीवी कैमरे-हाई कोर्ट..

लखनऊ : इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने कहा है कि लखनऊ सहित सभी जिलों की अदालतों में सीसीटीवी...
Information is Life

कानपुर में बुलियन, ज्वेलरी और रियल एस्टेट कारोबारियों के प्रतिष्ठानों में चार दिन से चल रही आयकर विभाग ( IT) की छापेमारी मंगलवार को खत्म हो गई। 300 अफसरों ने 95 घंटे की रेड में 600 करोड़ के फर्जी लेन-देन पकड़े। ज्वैलर्स के ठिकानों पर रेड के दौरान 25 करोड़ रुपए की नकदी और करीब 70 किलो सोना-चांदी सीज किया है। इसकी तस्वीरें भी सामने आईं हैं।

दरअसल, अधिकारियों ने सोमवार सुबह तक 16 करोड़ का कैश जब्त किया था। उन्हें बिरहाना रोड पर एक बंद दुकान में बड़े पैमाने पर कैश होने की जानकारी मिली। टीम सोमवार शाम को वहां पहुंची, यहां शटर खुलवाकर जब जांच की गई, तो कपड़े के एक गट्‌ठर में 9 करोड़ कैश मिला था। इसी तरह मंगलवार सुबह तक करीब 25 करोड़ कैश टीम जब्त कर चुकी है। IT अफसर का दावा है कि UP में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए सबसे बड़ी कार्रवाई है।

50 से ज्यादा बेनामी संपत्ति, 100 करोड़ टैक्स चोरी
IT सूत्रों के मुताबिक, टीम ने 50 से अधिक बेनामी संपत्तियों के दस्तावेज जब्त किए हैं। साथ ही, 100 करोड़ रुपए की कर चोरी पकड़ी गई है। कारोबारियों के सफेदपोश साथियों के बारे में भी पता चला है। उनमें से कुछ कारोबारियों को बुलाकर पूछताछ भी की गई है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है। कानपुर में कुल 17 ठिकानों पर छापामारी हुई, जबकि देश में 55 से ज्यादा प्रतिष्ठान पर IT टीमों ने कार्रवाई की है।

1700 करोड़ के लेन-देन में पकड़ी गई टैक्स चोरी
कानपुर में कैलाश नाथ अग्रवाल की राधा मोहन पुरुषोत्तम दास ज्वैलर्स प्राइवेट लिमिटेड और अमरनाथ अग्रवाल की राधा मोहन पुरुषोत्तम दास ज्वैलर्स का सालाना टर्न ओवर 1700 करोड़ रुपए का है। आयकर अधिकारी इसी लेनदेन में टैक्स चोरी की जांच कर रहे थे। इसके तार एमराल्ड के प्रमोटर संजीव झुनझुनवाला, चांदी कारोबारी मुन्ना जखोदिया और सौरभ वाजपेयी से जुड़े। इसलिए आयकर विभाग ने सभी के प्रतिष्ठानों में एक साथ छापा मारा।

आयकर अधिकारियों को कर चोरी की कड़ी से कड़ी मिलती गई। इस रेड में करीब 100 करोड़ की टैक्स चोरी पकड़ी गई है। ऐसे दस्तावेज मिले हैं, जो बताते हैं कि कारोबारी काला धन बेनामी संपत्ति में खपा रहे थे। कारोबारियों ने एक रियल एस्टेट कारोबारी के जरिए बड़ी संख्या में फ्लैट खरीदे।

लखनऊ, दिल्ली, कोलकाता में खपाया 500 करोड़
आयकर अधिकारियों को रियल एस्टेट में पैसा लगाने की जानकारी मिली थी। ये फंड कोलकाता और दिल्ली के कारोबारियों के जरिए कानपुर में निवेश किया जा रहा था। इसीलिए आयकर विभाग ने लखनऊ, दिल्ली और कोलकाता में भी छापा मारा। सूत्रों के मुताबिक, करीब 500 करोड़ रुपए से ज्यादा रकम रियल एस्टेट में खपाई गई है। इन संपत्तियों की जांच भी आयकर विभाग की टीम कर रही है।
कानपुर के कारोबारियों पर IT रेड, 25 करोड़ कैश मिला:300 अफसरों ने 95 घंटे में 600 करोड़ के फर्जी लेन-देन, 100 करोड़ की टैक्स चोरी पकड़ी

कानपुर2 घंटे पहले
कानपुर में आयकर विभाग ने ज्वैलरी कारोबारियों के यहां छापेमारी में 25 करोड़ का कैश बरामद किया है। – Dainik Bhaskar
कानपुर में आयकर विभाग ने ज्वैलरी कारोबारियों के यहां छापेमारी में 25 करोड़ का कैश बरामद किया है।
कानपुर में बुलियन, ज्वेलरी और रियल एस्टेट कारोबारियों के प्रतिष्ठानों में चार दिन से चल रही आयकर विभाग ( IT) की छापेमारी मंगलवार को खत्म हो गई। 300 अफसरों ने 95 घंटे की रेड में 600 करोड़ के फर्जी लेन-देन पकड़े। ज्वैलर्स के ठिकानों पर रेड के दौरान 25 करोड़ रुपए की नकदी और करीब 70 किलो सोना-चांदी सीज किया है। इसकी तस्वीरें भी सामने आईं हैं।

दरअसल, अधिकारियों ने सोमवार सुबह तक 16 करोड़ का कैश जब्त किया था। उन्हें बिरहाना रोड पर एक बंद दुकान में बड़े पैमाने पर कैश होने की जानकारी मिली। टीम सोमवार शाम को वहां पहुंची, यहां शटर खुलवाकर जब जांच की गई, तो कपड़े के एक गट्‌ठर में 9 करोड़ कैश मिला था। इसी तरह मंगलवार सुबह तक करीब 25 करोड़ कैश टीम जब्त कर चुकी है। IT अफसर का दावा है कि UP में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए सबसे बड़ी कार्रवाई है।

बिरहाना रोड की दुकान से 9 करोड़ कैश सोमवार शाम को बरामद किए। यह राशि कपड़े के बैग्स में रखी थी।
बिरहाना रोड की दुकान से 9 करोड़ कैश सोमवार शाम को बरामद किए। यह राशि कपड़े के बैग्स में रखी थी।
50 से ज्यादा बेनामी संपत्ति, 100 करोड़ टैक्स चोरी
IT सूत्रों के मुताबिक, टीम ने 50 से अधिक बेनामी संपत्तियों के दस्तावेज जब्त किए हैं। साथ ही, 100 करोड़ रुपए की कर चोरी पकड़ी गई है। कारोबारियों के सफेदपोश साथियों के बारे में भी पता चला है। उनमें से कुछ कारोबारियों को बुलाकर पूछताछ भी की गई है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है। कानपुर में कुल 17 ठिकानों पर छापामारी हुई, जबकि देश में 55 से ज्यादा प्रतिष्ठान पर IT टीमों ने कार्रवाई की है।

1700 करोड़ के लेन-देन में पकड़ी गई टैक्स चोरी
कानपुर में कैलाश नाथ अग्रवाल की राधा मोहन पुरुषोत्तम दास ज्वैलर्स प्राइवेट लिमिटेड और अमरनाथ अग्रवाल की राधा मोहन पुरुषोत्तम दास ज्वैलर्स का सालाना टर्न ओवर 1700 करोड़ रुपए का है। आयकर अधिकारी इसी लेनदेन में टैक्स चोरी की जांच कर रहे थे। इसके तार एमराल्ड के प्रमोटर संजीव झुनझुनवाला, चांदी कारोबारी मुन्ना जखोदिया और सौरभ वाजपेयी से जुड़े। इसलिए आयकर विभाग ने सभी के प्रतिष्ठानों में एक साथ छापा मारा।

आयकर अधिकारियों को कर चोरी की कड़ी से कड़ी मिलती गई। इस रेड में करीब 100 करोड़ की टैक्स चोरी पकड़ी गई है। ऐसे दस्तावेज मिले हैं, जो बताते हैं कि कारोबारी काला धन बेनामी संपत्ति में खपा रहे थे। कारोबारियों ने एक रियल एस्टेट कारोबारी के जरिए बड़ी संख्या में फ्लैट खरीदे।

कानपुर के 17 ठिकानों पर छापामारी की गई। इस दौरान लोकल पुलिस का सपोर्ट लिया गया।
कानपुर के 17 ठिकानों पर छापामारी की गई। इस दौरान लोकल पुलिस का सपोर्ट लिया गया।
लखनऊ, दिल्ली, कोलकाता में खपाया 500 करोड़
आयकर अधिकारियों को रियल एस्टेट में पैसा लगाने की जानकारी मिली थी। ये फंड कोलकाता और दिल्ली के कारोबारियों के जरिए कानपुर में निवेश किया जा रहा था। इसीलिए आयकर विभाग ने लखनऊ, दिल्ली और कोलकाता में भी छापा मारा। सूत्रों के मुताबिक, करीब 500 करोड़ रुपए से ज्यादा रकम रियल एस्टेट में खपाई गई है। इन संपत्तियों की जांच भी आयकर विभाग की टीम कर रही है।

बिरहाना रोड स्थित फर्म के हेड ऑफिस में की गई छापेमारी।
बिरहाना रोड स्थित फर्म के हेड ऑफिस में की गई छापेमारी।
रिश्तेदार, ड्राइवर और नौकर को बना रखा है डायरेक्टर
सूत्रों के मुताबिक, कारोबारियों ने काला धन खपाने के लिए फर्जी कंपनी भी बना रखी है। जिसमें कारोबारियों के रिश्तेदार के साथ नौकर और ड्राइवर डायरेक्टर हैं। इनके जरिए कारोबारियों ने 600 करोड़ रुपए का बोगस लेनदेन भी किया गया। इसका कारोबारी हिसाब नहीं दे पाए हैं। यह खेल अधिकारियों ने फार्म 60 से पकड़ा था।

नोट गिनने के लिए मशीन मंगाई
आयकर अधिकारियों ने पांचवें दिन छापे की कार्यवाही पूरी कर ली है। इसलिए अधिकारियों ने मशीनों से नोट गिनने के बाद उनको पैक कर लिया। साथ ही सोने की बिस्किट और ज्वैलरी का भी पूरा मूल्यांकन कर उनको भी पैक कर लिया।

इसके अलावा लैपटॉप की हार्ड डिस्क, फर्जी बिल, प्रॉपर्टी और बोगस कंपनी के दस्तावेजों को एक जगह एकत्र किया गया है। एक BMW कार से 12 किलो गोल्ड जब्त किया गया। वहीं करीब इस अभियान में 70 किलो सोना और चांदी भी आयकर विभाग ने जब्त किया है।

300 अधिकारियों ने 95 घंटे की पड़ताल
आयकर के छापे में पहले 250 अधिकारी शामिल थे, लेकिन जांच का दायरा बढ़ने पर 50 अधिकारियों को और बुलाया गया था। इन अधिकारियों ने पांच दिन में करीब 95 घंटे काम किया है। बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स की तैनाती भी की गई थी..


Information is Life