कानपुर के “हर्षद मेहता” शेयर ब्रोकर संजय सोमानी को 22 करोड़ के घोटाले में 3 और सीए को 5 साल की सजा।

वर्ष 1994 में इलाहाबाद बैंक कानपुर में हुआ था घोटाला, 30 साल बाद आया फैसला लखनऊ। बहुचर्चित संजय...

IAS-IPS अफसरों की सियासत में एंट्री : आज इस्तीफा कल चुनाव।

IAS-IPS In Politics : 1993 में केंद्रीय गृह सचिव नरिंदर नाथ वोहरा की अगुआई में एक कमेटी बनी। इसे...

IIT से बीटेक, फिर IPS और अब IAS टॉपर काफी रोचक है आदित्य श्रीवास्तव की कहानी

आदित्य के पिता अजय श्रीवास्तव सेंट्रल ऑडिट डिपार्टमेंट में AAO के पद पर कार्यरत हैं। छोटी बहन...

कानपुर लोकसभा चुनाव 2024 : विकास के लिए समर्पित सांसद को चुनेंगे मतदाता।

(अभय त्रिपाठी) कानपुरः यूपी की कानपुर लोकसभा सीट को मैनचेस्टर ऑफ यूपी के नाम से जानी जाती है।...

Kanpur : भाजपा प्रत्याशी रमेश अवस्थी ने इंडी गठबंधन के प्रभाव वाले कैन्ट, आर्यनगर और सीसामऊ में तेज की कदमताल..

आर्यनगर की गलियों में जाकर जनता से मिले, मिला जनसमर्थन कानपुर। जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ...

Kanpur : भाजपा प्रत्याशी रमेश अवस्थी ने इंडी गठबंधन के प्रभाव वाले कैन्ट, आर्यनगर और सीसामऊ में तेज की कदमताल..

-आर्यनगर की गलियों में जाकर जनता से मिले, मिला जनसमर्थन कानपुर। जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ...

इतिहास के पन्नों में : कानपुर के इस इलाके को आखिर कैसे मिला तिलक नगर नाम??

(अभय त्रिपाठी) कानपुर : उत्तर प्रदेश की राजधानी तो नहीं है, पर इस सूबे का सबसे खास शहर तो है। एक...

#Kanpur : लोकसभा प्रत्याशी आलोक मिश्र और विधायक समेत 200 लोगों पर केस दर्ज, अमिताभ बोले लोकतंत्र नहीं लाठीतंत्र।

यूपी के कानपुर (Kanpur) में इंडिया गठबंधन (India Alliance) के लोकसभा प्रत्याशी और समाजवादी पार्टी...

Kanpur : चोरों के हौसले बुलंद,स्वरूप नगर में दिनदहाड़े चोर स्कूटी लेकर रफूचक्कर।

कानपुर : बेखौफ अपराधी पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए शहर में ताबड़तोड़ चोरी की वारदातों...

Kanpur News : मरीजों की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं हैः मुख्य सचिव

कानपुर। प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने कहा कि मरीजों की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं है।...
Information is Life

कानपुर : नौ साल के विवाद के बाद सिंघानिया परिवार के जेके रेमण्ड के बॉस गौतम ने अपने पिता विजयपत सिंघानिया के साथ फोटो शेयर की और कहा, पापा घर लौट आए। यह फोटो कारपोरेट घराने के लिए बड़ी खबर है।

फोटो में विजयपत सिंघानिया और उनके बेटे गौतम का खुशहाल चेहरा सोशल मीडिया में देखकर लोगों में चर्चा शुरू हो गयी कि कहां पिता विजयपत सिंघानिया को घर से बेदखल करने वाला बेटा गौतम अब पत्नी से तलाक के विवाद के बाद फिर आशीर्वाद के लिए पिता के चरणों में आ गया। खबर का कानपुर कनेक्शन होने के कारण यहां भी चर्चा है। विजयपत सिंघानिया रोमांच भरे कारनामों के कारण खतरों के खिलाड़ी भी कहे जाते हैं।

सिंघानिया घराने में पिता-पुत्र के बीच इतने निम्नस्तर के मतभेद की खबरें सुर्खियां पाती रहीं। कानपुर में कम लोग जानते हैं कि रोमांचक करतब के शौकीन मुंबई में बसे विजयपत सिंघानिया का बचपन और युवा अवस्था के कुछ वर्ष छावनी क्षेत्र में गंगातट पर गंगाकुटी (सिंघानिया परिवार का निवास) कानपुर में ही बीते थे। वह जीएनके इंटर कालेज में पढ़े थे। यहां से वह पिता कैलाशपत सिंघानिया के पास मुंबई रहने चले गए थे। वहां पर आलीशान बंगले में रहने के बाद भी वह कनपुरिया यादें संजोए रहते हैं। जब-तब तीज-त्योहार में कानपुर आते थे तो बाबा आनंदेश्वर के दर्शन को परमट जाना नहीं भूलते थे। कमला क्लब में लाला कैलाशपत सिंघानिया स्मारक नेशनल बास्केटबॉल टूर्नामेंट में विजयपत कानपुर जरूर आते हैं।

12 हजार करोड़ से अधिक की संपत्ति के मालिक रहे विजयपत सिंघानिया की गिनती प्रयोगधर्मी कारोबारी के तौर पर होती रही है। जवानी के दिनों में इन्होंने अपने कारोबार को बढ़ाने में ढेरों प्रयोग किए। पिता कैलाशपत सिंहानिया के न रहने पर अपने चचेरे बड़े भाई गोपालपत (सर पदमपत सिंहानिया के बेटे) के साथ मिलकर रेमंड कंपनी को दुनिया के सरताज ब्रांडों में शुमार कराया। गोपाल बाबू के दुनिया से रुखसत होने के बाद न सिर्फ रेमंड कंपनी को अकेले संभाला, बल्कि एक दर्जन से अधिक नई कंपनियां खोलीं।

जानिए, क्यों चर्चित हैं विजयपत बाबू

  • 11-24 दिन में पूरी की 34 हजार किलोमीटर की उड़ान – 67 साल की उम्र में सबसे ऊंचाई पर उड़ाया हॉट एयर बैलून – ऊंचाई पसंद थी इसीलिए बनवाया 36 मंजिला घर
  • ऊंचाई पसंद थी इसलिए मुकेश अंबानी के एंटीलिया से भी ऊंचे घर पर रहे।
  • विजयपत सिंघानिया ने 1980 में रेमंड कंपनी की कमान संभाली।
  • 1990 में देश के बाहर ओमान में कंपनी का पहला विदेशी शो रूम खोला।
  • 67 साल की उम्र में सबसे ऊंचाई पर उड़ाया हॉट एयर बैलून।

Information is Life