कानपुर के “हर्षद मेहता” शेयर ब्रोकर संजय सोमानी को 22 करोड़ के घोटाले में 3 और सीए को 5 साल की सजा।

वर्ष 1994 में इलाहाबाद बैंक कानपुर में हुआ था घोटाला, 30 साल बाद आया फैसला लखनऊ। बहुचर्चित संजय...

IAS-IPS अफसरों की सियासत में एंट्री : आज इस्तीफा कल चुनाव।

IAS-IPS In Politics : 1993 में केंद्रीय गृह सचिव नरिंदर नाथ वोहरा की अगुआई में एक कमेटी बनी। इसे...

IIT से बीटेक, फिर IPS और अब IAS टॉपर काफी रोचक है आदित्य श्रीवास्तव की कहानी

आदित्य के पिता अजय श्रीवास्तव सेंट्रल ऑडिट डिपार्टमेंट में AAO के पद पर कार्यरत हैं। छोटी बहन...

कानपुर लोकसभा चुनाव 2024 : विकास के लिए समर्पित सांसद को चुनेंगे मतदाता।

(अभय त्रिपाठी) कानपुरः यूपी की कानपुर लोकसभा सीट को मैनचेस्टर ऑफ यूपी के नाम से जानी जाती है।...

Kanpur : भाजपा प्रत्याशी रमेश अवस्थी ने इंडी गठबंधन के प्रभाव वाले कैन्ट, आर्यनगर और सीसामऊ में तेज की कदमताल..

आर्यनगर की गलियों में जाकर जनता से मिले, मिला जनसमर्थन कानपुर। जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ...

Kanpur : भाजपा प्रत्याशी रमेश अवस्थी ने इंडी गठबंधन के प्रभाव वाले कैन्ट, आर्यनगर और सीसामऊ में तेज की कदमताल..

-आर्यनगर की गलियों में जाकर जनता से मिले, मिला जनसमर्थन कानपुर। जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ...

इतिहास के पन्नों में : कानपुर के इस इलाके को आखिर कैसे मिला तिलक नगर नाम??

(अभय त्रिपाठी) कानपुर : उत्तर प्रदेश की राजधानी तो नहीं है, पर इस सूबे का सबसे खास शहर तो है। एक...

#Kanpur : लोकसभा प्रत्याशी आलोक मिश्र और विधायक समेत 200 लोगों पर केस दर्ज, अमिताभ बोले लोकतंत्र नहीं लाठीतंत्र।

यूपी के कानपुर (Kanpur) में इंडिया गठबंधन (India Alliance) के लोकसभा प्रत्याशी और समाजवादी पार्टी...

Kanpur : चोरों के हौसले बुलंद,स्वरूप नगर में दिनदहाड़े चोर स्कूटी लेकर रफूचक्कर।

कानपुर : बेखौफ अपराधी पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए शहर में ताबड़तोड़ चोरी की वारदातों...

Kanpur News : मरीजों की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं हैः मुख्य सचिव

कानपुर। प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने कहा कि मरीजों की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं है।...
Information is Life

चुनावी हंडिया में सियासी खिचड़ी पकाने की तैयारी, राजनीतिक दलों ने बनाई खास रणनीति
चुनावी हंडिया में क्या इस बार सियासी खिचड़ी पक सकेगी? जुगत में तो सभी लगे हैं। संयोग देखिए मकर संक्राति पर्व भी चुनाव से ऐन पहले आया है। खिचड़ी खिलाने के बहाने वोट बटाेरने की रणनीति पुरानी है।

Kanpur news [ Uptvlive ] : चुनावी हंडिया में क्या इस बार सियासी खिचड़ी पक सकेगी? जुगत में तो सभी लगे हैं। संयोग देखिए, मकर संक्राति पर्व भी चुनाव से ऐन पहले आया है। खिचड़ी खिलाने के बहाने वोट बटाेरने की रणनीति पुरानी है। लेकिन, इस बार परिदृश्य बदला सा नजर आ रहा है। निर्वाचन आयोग की सख्ती तो है ही, कोरोना का प्रकोप भी राजनेताओं के अरमानों पर पानी फेर रहा है। हालांकि जिन्हें पूर्ण विश्वास है कि टिकट उन्हें ही मिलेगा, वे पूरी सिद्दत से ऐसे आयोजनों में शिरकत करने का मन बना चुके हैं। फंडा सीधा है, खिचड़ी के बहाने जनता को बुलाओ और अपना वोट बैंक पक्का। खिचड़ी ही तो है, सार्वजनिक न सही, आवास पर ही पक जाएगी। टिकट के तलबगार राजनेता ये भी सोच बैठे हैं कि जनता को खिचड़ी खिलाकर वोट तो वोट पुण्य भी मिलेगा।

कानपुर की कल्याणपुर विधानसभा से कांग्रेस की टिकट के दावेदार कांग्रेसी नेता नरेश चन्द्र त्रिपाठी पूर्व महामंत्री कानपुर बार एसोसिएशन ने भी मकर संक्रांति के अवसर पर खिचड़ी भोज के बहाने सियासी तान ठोक दी है। खिचड़ी भोज में सियासी जमावड़ा लगा रहा। सर्वोदय नगर स्थित एक पार्क में आयोजित। खिचड़ी भोज में कांग्रेस पार्टी के कल्याणपुर विधानसभा के समस्त वार्ड अध्यक्ष, प्रभारी कार्यकर्ता एवं कांग्रेसी नेताओं ने शिरकत कर कल्याणपुर विधानसभा का सियासी ताप नापा जिसके बाद Aicc के आब्जर्बर छत्तीसगढ़ के पूर्व विधायक चन्द्र प्रकाश बाजपेयी से एक सुर में सभी कांग्रेसी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने कल्याणपुर विधानसभा से नरेश चन्द्र त्रिपाठी को आगामी विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाये जाने की मांग की गई। कार्यक्रम में राजनीतिक नेताओं के साथ ही समाजसेवी भी मौजूद रहे। दोपहर से शुरु हुआ सिलसिला देरशाम तक चलता रहा।

एकता व सद्भावना का संदेश

नरेश चन्द्र त्रिपाठी ने कहा कि खिचड़ी भोज के माध्यम से एकता व सद्भावना का संदेश देने का प्रयास किया जाता है।


Information is Life