वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बजट भाषण।

🛑वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में कहा कि ‘सरकार एक करोड़ युवाओं को अगले...

दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में पेश किया आम बजट 2024-25

➡भारत में महंगाई दर करीब 4 फीसदी ➡भारतीय अर्थव्यवस्था चमक रही है ➡ग्लोबल इकॉनमी मुश्किल दौर में है...

Kanpur : रेलबाजार पुलिस की वाहन चोर से मुठभेड़…

कानपुर की रेलबाजार पुलिस और शातिर बदमाश में रविवार देर रात रेलबाजार लोको कॉलोनी में मुठभेड़ हो गई।...

प्रयागराज में पहली बार एके-47 से हुई थी विधायक की हत्या, आरोपी उदयभान करवरिया को मिली रिहाई

बालू ठेकों के वर्चस्व में प्रयागराज में पहली बार 1996 में एके-47 से हत्या की गई थी। सरकार बदली, तो...

सुनियोजित विकास को आगे बढ़ाने में सहायक होगी फैमिली आईडी : सीएम

विज्ञापन योगी ने की जिला घरेलू उत्पाद अनुमान (डीडीपी) 2022-23 पुस्तिका के आंकड़ों की समीक्षा वर्ष...

Kanpur News: ‘मुकदमा लो वापस वरना छाती पर पड़ेगी गोली’, बाइक सवार बदमाशों ने अधिवक्ता के घर की फायरिंग..

विज्ञापन Kanpur News: अधिवक्ता अश्वेंद्र सोनकर ने कहा कि उनका अशोक और सजल के साथ विवाद चल है....

‘सौ लाओ, सरकार बनाओ’, अखिलेश यादव के मॉनसून ऑफर ने बढ़ाया यूपी का सियासी पारा।

समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव लगातार यूपी की योगी सरकार पर हमला कर रहे हैं। अब अखिलेश ने...

कानपुर में सैकड़ों की संख्या में चल रहे अवैध हुक्का बार, नशा परिवारों को झोंक रहा तबाही के द्वार-ज्योति बाबा…

विज्ञापन कानपुर : विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के अनुसार तंबाकू का दूसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता और...

कानपुर में जमीनों का नया सर्किल रेट जारी, जमीन खरीदने के लिए अब इतनी ढीली करनी होगी जेब, देख लीजिए लिस्ट

विज्ञापन Kanpur New Circle Rate of Land: कानपुर में जमीनों के दाम में वृद्धि हो गई है। नए सर्किल...
Information is Life

https://youtu.be/6ucpeGxyIc4
विज्ञापन

कानपुर-विदेशी सोना तस्करी मामले में प्रभारी विशेष मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट स्नेहा ने इत्र कारोबारी की जमानत अर्जी खारिज कर दी । इस मामले में बीते सप्ताह सुनवाई पूरी हो चुकी थी। गौरतलब हो कि जिला जज के न्यायालय में रुपये बरामदगी मामले में पीयूष की एक और जमानत पर सुनवाई चल रही है। इत्र कारोबारी पीयूष जैन के कानपुर स्थित आनंदपुरी और कन्नौज स्थित घर व फर्म पर महानिदेशालय जीएसटी इंटेलीजेंस (डीजीजीआइ) की टीम ने 22 दिसंबर 2021 को छापा मारा था । करीब पांच दिन चले अभियान में इत्र कारोबारी के घर से डीजीजीआइ टीम को 196 करोड़ रुपये और 23 किग्रा विदेशी मुहर लगा सोना बरामद हुआ था । विदेशी मुहर होने के चलते जांच एजेंसी ने इसे तस्करी का सोना बताते हुए पीयूष पर मुकदमा शुरू किया है । इसी मामले में इत्र कारोबारी की ओर से विशेष मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के न्यायालय में जमानत अर्जी दाखिल की गई थी । बचाव पक्ष के अधिवक्ता चिन्मय पाठक की दलील थी कि जांच एजेंसी साबित नहीं कर सकी है कि यह तस्करी का सोना है । इस मामले में उनका मुवक्किल वैसे ही लंबे समय से जेल में है।

https://youtu.be/yQAHz5tgi30

इत्र कारोबारी के स्वास्थ्य का हवाला देते हुए जमानत की मांग की । अभियोजन की ओर से विशेष लोक अभियोजक अंबरीश टंडन ने विरोध करते हुए कहा कि आरोपित ने विदेशी सोना बिना किसी वैध दस्तावेज के अपने पास रखा । टैक्स अदा नहीं किया जिससे भारी राजस्व को क्षति हुई । जमानत दी गई तो साक्ष्यों से छेड़छाड़ की संभावना है। आरोपित ने वित्तीय अपराध किया है जिससे देश की आर्थिक स्थिति पर प्रभाव पड़ा है । इस आधार पर उन्होंने जमानत न दिए जाने की अपील की । दोनों पक्षों को सुनने के बाद न्यायालय ने पर्याप्त आधार न पाते हुए जमानत अर्जी निरस्त कर दी।


Information is Life