IIT कानपुर में मेडिकल रिसर्च के लिए स्कूल आफ मेडिकल रिसर्च एंड टेक्नालॉजी बनाने के लिए यूपी कैबिनेट मीटिंग में 50 करोड़ का प्रस्ताव पास।

विज्ञापन यूपी : CM योगी आद‍ित्‍यनाथ ने कैब‍िनेट मीट‍िंग में मंगलवार को कई बड़े फैसले ल‍िए गए हैं।...

Modi Cabinet Ministers List: ग्राफिक्स में देखें पीएम की नई टीम, 30 कैबिनेट मंत्री, राम-रक्षा मोहन सबसे युवा

Modi 3.0 Cabinet: नरेंद्र मोदी ने लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ले ली है। उनके बाद...

Terrorist Attack: जम्मू कश्मीर के रियासी में श्रद्धालुओं से भरी बस पर आतंकियों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, खाई में गिरने से 10 की मौत।

Jammu Kashmir News: जम्मू-कश्मीर में रविवार को तीर्थयात्रियों को ले जा रही बस खाई में गिर गई. यह...

UptvLive Exclusive : Kanpur के Don D-2 गैंग लीडर अतीक पहलवान की आगरा Central Jail में मौत।

Uttar Pradesh के Kanpur Nagar और आसपास के जनपदों में करीब चार दशक तक आतंक के पर्याय रहे D-2 गिरोह...

जाजमऊ आगजनी केस में सपा विधायक इरफान सोलंकी को सात साल की सजा, एमपीएमएलए कोर्ट ने सुनाया फैसला

कानपुर के जाजमऊ आगजनी मामले में दोषी करार दिए गए सपा विधायक इरफान सोलंकी, उनके भाई रिजवान सोलंकी व...

Kanpur : रेड क्रॉस ने मुरारी लाल चेस्ट हॉस्पिटल में 15 रोगियों को न्यूट्रिशन सामग्री का किया वितरण।

कानपुर, राज्यपाल उत्तर प्रदेश द्वारा चलाई जा रही टीवी रोग मुक्त मुहिम कार्यक्रम के अनुपालन में आज...

#Kanpur : जाजमऊ आगजनी मामले में इरफान सोलंकी की सदस्यता गई, सीसामऊ सीट जल्द घोषित होगी रिक्त।

उत्तर प्रदेश की सीसामऊ विधानसभा से सपा विधायक इरफान सोलंकी को जाजमऊ आगजनी मामले में कानपुर की...

#Kanpur : जाजमऊ आगजनी मामले में इरफान सोलंकी की सदस्यता गई, सीसामऊ सीट जल्द घोषित होगी रिक्त।

उत्तर प्रदेश की सीसामऊ विधानसभा से सपा विधायक इरफान सोलंकी को जाजमऊ आगजनी मामले में कानपुर की...

UP Lok Sabha Chunav Results 2024 Full List of Winners: यूपी की 80 सीटों के एक साथ यहां देखें नतीजे, कहां से कौन है आगे और पीछे।

UP Loksabha Election Result Live Updates: उत्तर प्रदेश की 80 सीटों पर सबकी नजरें टिकी हुई हैं....

UP LokSabha Result: लखीमपुर सीट से भाजपा के अजय टेनी को मात देते हुए सपा के उत्कर्ष वर्मा बने विजेता

लखीमपुर खीरी में अजय टेनी को मात देते हुए सपा के उत्कर्ष वर्मा चुनाव जीते चुके है. भाजपा के अजय...
Information is Life

कानपुर : समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के संरक्षक और उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) के निधन से जहां एक तरफ सपा कार्यकर्ताओं में शोक है तो वहीं समा समर्थकों में भी गम व्यापत है. दूर-दूर से लोग मुलायम सिंह यादव को अपनी श्रद्धांजलि देने के लिए सैफई आ रहे हैं. इसी बीच कानपुर से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां मुलायम सिंह यादव के निधन की खबर सुनकर एक 10 साल का बच्चा महराजगंज (Maharajganj) से अकेले सैफई (Saifai) के लिए निकल पड़ा. मामले का खुलासा तब हुआ तब कानपुर रेलवे स्टेशन पर बच्चे को जीआरपी ने रोक लिया. बच्चा खुद को समाजवादी पार्टी का स्टार प्रचारक बता रहा है. बता रहा था, जानकारी मिलते ही पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तत्काल कानपुर के सपा विधायक अमिताभ बाजपेयी को कॉल करके बच्चे को सैफ़ई भेजने का इंतजाम करने को कहा लेकिन अमिताभ को जीआरपी ने जानकारी दी कि वो उस बच्चे को उंसके पिता को सपुर्द कर चुके है और अब वो अपने गाँव मे है जिसके बाद अमिताभ ने अपनी पार्टी के ही एक साथी जो कि महराजगंज निवासी थे संपर्क कर उस बच्चे को सैफ़ई भेजने की व्यवस्था करवाई शनिवार को सुबह नेताजी का नन्हा फैन सैफ़ई पहुँच गया जहाँ उसने सबसे पहले नेताजी के चित्र पर श्रद्धांजलि अर्पित की।

आपको बता दें कि महाराजगंज (Maharajganj) के नौतनवा क्षेत्र में रहना वाला 10 वर्षीय नवरत्न यादव को जैसे ही सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के निधन की जानकारी हुई वह परेशान हो गया. वह मुलायम सिंह यादव को आखिरी बार देखने के लिए खुद बिना किसी को बताए सैफई के लिए निकल पड़ा. वह इटावा तक पहुंच चुका था लेकिन वहां बच्चे ने गलत ट्रेन पकड़ ली जिससे वह सैफई की जगह कानपुर आ पहुंचा. जीआरपी ने कानपुर रेलवे स्टेशन पर बच्चे को रोक लिया और उससे पूछताछ की. जैसी ही पूरा मामला समझ आया जीआरपी ने बच्चे के परिवारवालों को बुलाकर उसे सपुर्द कर दिया था।

कानपुर रेलवे स्टेशन पर बच्चे ने सारे सवालों के जवाब बड़ी ही मासूमियत से दिए. बच्चे ने बताया कि वह नौतनवा विधानसभा का रहने वाला है. जैसी ही उसे पता चला की मुलायम सिंह अब इस दुनिया में नहीं रहे वह जिन कपड़ों में था वैसी ही अपने घर से चला आया. वह अकेले गोरखपुर (Gorakhpur) आया और वहां से लखनऊ तक आया. बच्चे ने बताया कि वह इटावा तक पहुंच गया था लेकिन वहां से अपना रास्ता भटक गया. इसलिए वह कानपुर आ पहुंचा. उसने बताया कि वह मुलायम सिंह यादव के अंतिम संस्कार में शामिल होने जा रहा था. श्यामलाल से जब पूछा गया कि क्या वह अभी भी मुलायम सिंह यादव के परिवार वालों से मिलने जाएगा तो उसने बड़े अफसोस के साथ कहा कि अब घर के लोग आ रहे हैं. मैं बिना बताए यहां आ गया था. घर के लोग रो भी रहे थे. नवरत्न खुद को समाजवादी पार्टी का स्टार प्रचारक बना रहा था।


Information is Life