कानपुर : छोटे भाई को गोली मारकर हत्या करने वाले कलयुगी भाई को पुलिस ने 12 घंटे में दबोचा।

डीसीपी साउथ का बयान कानपुर में एक बड़े भाई ने छोटे भाई की गोली मारकर हत्या कर दी थी. दोनों छत पर...

दवा व्यापारी से मारपीट: भाजपा नेता और अन्य आरोपियों पर 25-25 हजार का इनाम घोषित।

संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी का बयान Kanpur News: दोनों पक्षों के इस घटना लेकर...

कानपुर : CM की कानून व्यवस्था समीक्षा में सीसामऊ और अनवरगंज सर्किल अव्वल, कोतवाली सर्किल फिस्सडी।

सीएम योगी ने कानून व्यवस्था की समीक्षा की टॉप 10 सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले बदायूं का...

CM योगी ने महिलाओं के लिए प्रदेश के हर जिले में एक थाने का कोटा किया आरक्षित।

महिला आरक्षण बिल पास होने के बाद देश का पहला प्रदेश बना यूपी जहां प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी...

Law And Order Meeting: योगी ने ली कप्तानों और कोतवालों की क्लास, प्रयागराज के पुलिस कमिश्नर को भी मिली फटकार

Lucknow News: कानून व्यवस्था और अपराध को लेकर सीएम योगी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से महाबैठक...

सीटबेल्ट लगाने के बावजूद नहीं खुला एयरबैग; इकलौते बेटे की मौत, पिता ने आनंद महिंद्रा समेत 13 पर दर्ज करायी FIR..

कानपुर में सड़क हादसे में स्कॉर्पियो सवार युवक की मौत के मामले में आनंद महिंद्रा समेत कंपनी के 13...

Kanpur News: सड़क पर शराब के नशे में बीजेपी नेता का हाईवेल्टेज ड्रामा, युवक को पीट-पीटकर किया मरणासन्न।

कानपुर-भाजपा के पार्षद पति शराब के नशे में युवक की जमकर पिटाई,ओवरटेक करते समय पास ना मिलने पर...

Allahabad High Court में बढ़ी स्थायी न्यायाधीशों की संख्या, मिले 7 नए जज, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने दी मंजूरी

Prayagraj News: इलाहाबाद हाईकोर्ट के सात एडिश्नल जजों को स्थाई न्यायधीश बनाए जाने को लेकर...

कानपुर: मॉल कर्मी युवती से लूटपात और सामूहिक दुष्कर्म, लोकलाज के डर से नहीं बताई थी आपबीती, तीन गिरफ्तार..

Kanpur Crime: युवती और उसके मित्र को जब पुलिस की कार्रवाई पर भरोसा हुआ, तो उसने घटना की सच्चाई...

UP Cabinet Expansion: क्यों नहीं हो पा रहा यूपी में मंत्रिमंडल का विस्तार? BJP की रणनीति में आए बदलाव की ये है वजह

UP News: उत्तर प्रदेश में महिला आयोग, गौ सेवा आयोग, एससी एसटी आयोग, पिछड़ा वर्ग आयोग समेत दर्जन भर...
Information is Life


उमेश पाल हत्याकांड के संबंध में अतीक अहमद की पत्नी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक लेटर लिखा है. इसमें उन्होंने राजू पाल की हत्या के मुख्य गवाह उमेश पाल की हत्या की सीबीआई जांच की मांग की है. कहा कि एक कैबिनेट मंत्री ने हमारे खिलाफ साजिश रची है. इसी के तहत हत्या कर दी गई है.

यूपी के प्रयागराज में हुए उमेश पाल हत्याकांड के संबंध में अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन ने सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक लेटर लिखा है. इसमें उन्होंने राजू पाल की हत्या के मुख्य गवाह उमेश पाल की हत्या की सीबीआई जांच की मांग की है. शाइस्ता और उसके परिवार के सदस्य इस मामले में आरोपी हैं.

गौरतलब है कि 24 फरवरी को प्रयागराज के धूमनगंज इलाके में उमेश पाल और सुरक्षा गार्ड संदीप निषाद की उनके घर के बाहर हत्या कर दी गई थी. इस हमले में एक अन्य कांस्टेबल घायल हो गया. उधर, अतीक अहमद राजू पाल की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी है और गुजरात जेल में बंद है.

उमेश पाल की हत्या बेहद दुखद और निंदनीय

मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में शाइस्ता परवीन ने कहा, ”उमेश पाल की हत्या बेहद दुखद और निंदनीय है. उनकी पत्नी ने मेरे पति, दोनों बेटों, देवर खालिद अजीम उर्फ अशरफ समेत नौ लोगों पर एफआईआर दर्ज कराई है. इसमें मेरे पति, देवर और बेटों पर साजिश का आरोप है. साथ ही सीसीटीवी फुटेज के आधार पर मेरे बेटे अली को शूटर बताया है. ये आरोप निराधार हैं”.

एक कैबिनेट मंत्री ने हमारे खिलाफ साजिश रची

“सच्चाई यह है कि जब से बसपा ने मुझे प्रयागराज से मेयर पद का उम्मीदवार घोषित किया है, आपकी सरकार में एक स्थानीय नेता, एक कैबिनेट मंत्री ने हमारे खिलाफ साजिश रची है. इसी साजिश के तहत एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई है.” जिसका आरोप मेरे पति पर लगना स्वाभाविक था”.

पति और देवर को जेल से निकालकर मारा जा सकता

शाइस्ता परवीन ने आगे कहा, “उमेश पाल राजू पाल हत्याकांड में गवाह नहीं था. वह धूमनगंज थाने में दर्ज अपहरण के मामले में वादी था. इसमें अदालत में उसकी गवाही दर्ज की जा चुकी है. प्रयागराज पुलिस आपके मंत्री के दबाव में काम कर रही है. रिमांड के बहाने मेरे पति और देवर को जेल से निकालकर रास्ते में ही मारा जा सकता है”. परवीन ने मांग की है कि उमेश पाल की हत्या की सीबीआई से कराई जाए. उन्होंने इस पत्र को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर भी किया है.

मामले में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार का बयान

मामले में अब तक क्या कार्रवाई हुई इसको लेकर एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार और प्रयागराज पुलिस कमिश्नर रमित शर्मा ने जानकारी दी है. एडीजी ने कहा कि इस हत्याकांड ने पूरे प्रदेश को दहला दिया था. सरकार की तरफ से विधानसभा के पटल पर सभी आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए थे. इसी क्रम में आज प्रयागराज के मध्य थाना क्षेत्र में मुठभेड़ हुई.
इसमें आरोपी अरबाज को गोली लगी. इसके पास से 32 बोर की पिस्टल बरामद हुई है. एडीजी ने कहा कि इस मामले में सात आरोपियों पर घोषित कर दिया गया है. अगर कोई व्यक्ति इनके संबंध में जानकारी देता है तो उसे इनाम दिया जाएगा.

मुस्लिम हॉस्टल में रची गई थी साजिश- पुलिस कमिश्नर

प्रयागराज पुलिस कमिश्नर रमित शर्मा ने बताया कि सोमवार को मुठभेड़ में मारा गया अरबाज पुत्र अफाक 50 हजार का इनामी था. इसका अपराधी इतिहास खंगाला जा रहा है. इस मुठभेड़ में एसएचओ को चोट आई है.

इस दौरान उन्होंने एक सनसनीखेज खुलासा किया. बताया कि इस हत्याकांड की साजिश मुस्लिम हॉस्टल के कमरे में रची गई थी. साथ ही ये भी बताया कि वारदात में शामिल एक साजिशकर्ता सदाकत खान पुत्र शस्मशाद खान को यूपी एसटीएफ ने अरेस्ट किया है. वो गाजीपुर का रहने वाला है और एलएलबी का छात्र बताया जा रहा है. जो कि मुस्लिम हॉस्टल में रह रहा था.


Information is Life