Jyoti Murder Case Kanpur: हत्यारें पीयूष को न्यायालय से राहत नहीं…

अपर जिला जज कोर्ट ने 2022 में सुनाई थी छह को उम्र कैद की सजा.. उच्च न्यायालय से नहीं मिली राहत तो...

Kanpur लायर्स चुनाव का परिणाम घोषित,अध्यक्ष श्याम नारायण सिंह और अभिषेक तिवारी बने महामंत्री।

कानपुर : लायर्स एसोसिएशन के नये अध्यक्ष और महामंत्री चुन लिये गये हैं। .बुधवार देर शाम अध्यक्ष पद...

कानपुर के पोस्टर पर मचा बवाल राहुल गांधी ‘कृष्ण’ और अजय राय बने अर्जुन….

राहुल गांधी की भारत जोड़ा न्याय यात्रा कानपुर पहुंची है. कानपुर के एक कांग्रेस नेता द्वारा लगवाया...

पश्चिम बंगाल में रिपब्लिक बांग्ला के रिपोर्टर को किया गिरफ्तार,जर्नलिस्ट क्लब ने की कड़ी निन्दा।

पश्चिम बंगाल में ‘रिपब्लिक बांग्ला’ टीवी न्यूज़ चैनल के पत्रकार सन्तु पान को गिरफ्तार कर लिया गया...

रेड टेप कल्चर’ को ‘रेड कार्पेट कल्चर’ में बदला, UP ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में बोले PM मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं जब भी विकसित भारत की बात करता हूं तो इसके लिए नई सोच की बात करता...

IPS Amitabh Yash: एनकाउंटर स्पेशलिस्ट अमिताभ यश बने यूपी के नए ADG ला एंड ऑर्डर, जाने इनके बारे में।

IPS Amitabh Yash: यूपी पुलिस के सबसे चर्चित अधिकारियों में शामिल आईपीएस अमिताभ यश एडीजी ला एंड...

Kanpur News : पूर्व शिक्षा मंत्री अमरजीत सिंह जनसेवक का निधन

पूर्व शिक्षा मंत्री अमरजीत सिंह जनसेवक (71) का निधन हो गया है। बताया जा रहा है कि ठंड लगने से...

यूपी में पांच आईपीएस अफसरों का तबादला। विपिन मिश्रा कानपुर में एडिशनल सीपी।

यूपी में पांच आईपीएस अफसरों का तबादला। विपिन मिश्रा कानपुर में एडिशनल सीपी। कमलेश दीक्षित डीसीपी...

#Kanpur News : जेके कैंसर बने रीजनल सेंटर, बढ़ेंगी सुविधाएं…

➡️चौथी बार उठी मांग, विधानसभा की याचिका कमेटी को दिया गया पत्र। कानपुर। जेके कैंसर को रीजनल सेंटर...
Information is Life


Kanpur News आजाद नगर निवासी सिक्योरिटी गार्ड मुन्नालाल शुक्ला की पत्नी सुनीता ने 17 दिसंबर 2022 को एक बेटी को जन्म दिया था। परिवार का आरोप है कि इस बच्ची को एक युवती ने रजिस्ट्री कार्यालय ले जाकर अंगूठा लगवा लिया। इस मामले में अब एक नया खुलासा हुआ है।

Abhay Tripathi Journalist:

उत्तर प्रदेश के कानपुर से चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक नवजात बच्ची की जमीन की तरह अंगूठा लगाकर रजिस्ट्री करा ली गई। बच्ची के मां बाप ने एक निसंतान औरत पर रजिस्ट्री का आरोप लगाया। जांच कर रही पुलिस को मिली एक ऑडियो से इस पूरे का एंगल बदल गया।

झांसा देकर नवजात बच्ची को गोद लेने के मामले में पुलिस की शुरुआती जांच में ही झोल नजर आ रहे हैं। अब तक हुई जांच के बाद यह सामने आया है कि बच्ची को उसके मां-बाप ने आरोपित पक्ष के हाथों पचास हजार रुपये में बेचा था। अब वह पचास हजार रुपये और मांग रहे थे।

पैसे देने से मना करने पर उन्होंने विवाद खड़ा कर दिया और जब पुलिस ने शिकायत के बाद जांच में मामला दर्ज करने से इनकार किया तो उन्होंने वाया अदालत मुकदमा दर्ज करा दिया। मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस को एक ऑडियो मिली है, जिसमें बच्ची का पिता आरोपित पक्ष से पचास हजार रुपये की मांग कर रहा है।

आजाद नगर निवासी सिक्योरिटी गार्ड मुन्नालाल शुक्ला की पत्नी सुनीता ने 17 दिसंबर 2022 को एक बेटी को जन्म दिया था। यह बेटी इनकी चौथी संतान है, जिसका नाम उन्होंने विजेता रखा है। सुनीता उजियारा निवासी कोटेदार राजेंद्र त्रिवेदी की दुकान से राशन लेने जाती थी। कोटा उनकी बेटी वर्षा चलाती है। वर्षा नि:संतान है।

क्या है मामला
आरोप है कि नवजात बच्ची का राशन कार्ड में नाम जुड़वाने के नाम पर वर्षा 30 जनवरी को उन्हें लेकर रजिस्ट्री कार्यालय गई और कुछ कागजों पर दस्तखत व अंगूठे के निशान लगवा लिए। सभी की फोटो खींची। 31 जनवरी बच्ची के रेटिना की फोटो बनवाने का बहाना कर वह बच्ची को ले गई। जब वर्षा नहीं लौटी तो वह उनके घर गए, जहां वर्षा ने उसने 20 हजार रुपये देकर बच्ची को बेचने की पेशकश की। नवाबगंज पुलिस ने रिपोर्ट नहीं लिखी तो पिछले दिनों अदालत के आदेश पर वर्षा, उसके पति मनीष, पिता राजेन्द्र, अम्बुज मिश्रा, अनुराग शुक्ला के खिलाफ थाना नवाबगंज में मुकदमा दर्ज हो गया।

पहले भी पुलिस के सामने आया था ये मामला
इस प्रकरण में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। थाना प्रभारी नवाबगंज प्रमोद कुमार पांडेय ने बताया कि पहले भी यह मामला सामने आया था, जिसमें उप निबंधक प्रथम कार्यालय में गोद लेने की प्रक्रिया पूरी होने की बात सामने आई थी। इसलिए पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया है। अब मुकदमा दर्ज होने के बाद रजिस्ट्री कार्यालय से पूरे दस्तावेज, गोद लेने की प्रक्रिया, संबंधित मामले में गोद लेने के लिए अपनाई गई प्रक्रिया का ब्यौरा मांगा गया है।

ऑडियो सामने आने से बदला केस का एंगल
इंस्पेक्टर ने बताया कि पुलिस को एक आडियो मिली है, जोकि बच्ची के अभिभावक व आरोपित पक्ष के बीच है। इसमें बच्ची के अभिभावक मान रहे हैं कि उन्हें पचास हजार रुपये मिल चुके हैं, लेकिन अब उन्हें और पचास हजार रुपये की जरूरत है। जांच में यह भी सामने आया है कि बच्ची को पहले एक निषाद को 20 हजार रुपये में बेचा जा रहा था। इस तथ्यों के आधार पर पुलिस मामले की जांच कर रही है।


Information is Life