‘सौ लाओ, सरकार बनाओ’, अखिलेश यादव के मॉनसून ऑफर ने बढ़ाया यूपी का सियासी पारा।

समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव लगातार यूपी की योगी सरकार पर हमला कर रहे हैं। अब अखिलेश ने...

कानपुर में सैकड़ों की संख्या में चल रहे अवैध हुक्का बार, नशा परिवारों को झोंक रहा तबाही के द्वार-ज्योति बाबा…

विज्ञापन कानपुर : विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के अनुसार तंबाकू का दूसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता और...

कानपुर में जमीनों का नया सर्किल रेट जारी, जमीन खरीदने के लिए अब इतनी ढीली करनी होगी जेब, देख लीजिए लिस्ट

विज्ञापन Kanpur New Circle Rate of Land: कानपुर में जमीनों के दाम में वृद्धि हो गई है। नए सर्किल...

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर बड़ा हादसा, दूध के कंटेनर से टकराई डबल डेकर बस, 18 लोगों की मौत,30 घायल

उन्नाव में लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर बड़ा हादसा हो गया। डबल डेकर बस और दूध के कंटेनर में जोरदार...

Uptvlive Kanpur News : अब घायलों को फर्स्ट एड देंगी कमिश्नरेट पुलिस, रेडक्रॉस सोसायटी ने वर्कशॉप में दी ट्रेनिंग।

विज्ञापन कानपुर : किसी भी हादसे में जख्मी व्यक्ति को पुलिस के जवान मौके पर ही फर्स्ट एड देकर उसके...

UPtvLIVE Kanpur : सीसामऊ उपचुनाव के लिए नसीम सोलंकी नाम फाइनल, सपा सुप्रीमो ने की घोषणा।

विज्ञापन कानपुर : सीसामऊ विधानसभा क्षेत्र से सपा की प्रत्याशी बनाई गईं इरफान सोलंकी की पत्नी नसीम...

कानपुर : कमिश्नरेट पुलिस की कार्यशैली से छुब्ध विधायक साँगा ने सीएम से की मुलाकात।

UP News: माना जाता है कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार अपराधियों पर सख्त है। सरकार ने उत्तर...

कौन है ब्रिटेन की लेबर पार्टी से MP बने नवेंदु मिश्रा? कानपुर-गोरखपुर से है नाता, गजब है कहानी

UP News: ब्रिटेन की सत्ता पर 14 सालों से काबिज कंजर्वेटिव पार्टी को चुनावों में करारी हार मिली है....

Kanpur : राजस्व अभिलेखों में खेल करके करोड़ों की जमीन पर किया गया फर्जीवाड़ा, डीएम ने FIR कराने के दिए निर्देश।

विज्ञापन कानपुर कलेक्ट्रेट में तैनात ईआरके साधना तिवारी की मिलीभगत से राजस्व अभिलेखों में हेराफेरी...
Information is Life

लखनऊ: उत्तर प्रदेश कैडर के 2014 बैच के आईपीएस अधिकारी मणिलाल पाटीदार को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। कार्मिक एवम प्रशिक्षण विभाग (DOPT) ने यूपी सरकार की सिफारिश पर पाटीदार को आईपीएस सेवा से बर्खास्त कर दिया है। मणिलाल मौजूदा समय लखनऊ जेल में बंद है। उन पर महोबा के एक व्यापारी को आत्महत्या के लिए उकसाने, भ्रष्टाचार समेत कई गंभीर आरोप है। मणिलाल ने बीते वर्ष अक्टूबर में दो साल फरार होने के बाद कोर्ट में सरेंडर किया था। अब आईपीएस की लिस्ट से भी उनका नाम हटा दिया गया है।

बर्खास्त कर IPS सूची से पाटीदार का हटाया गया नाम

लखनऊ जेल में बंद 2014 बैच के आईपीएस अधिकारी मणिलाल पाटीदार को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। वर्ष 2020 में महोबा के व्यापारी की मौत के बाद मणिलाल पाटीदार फरार हुए थे, उन्हे पुलिस करीब दो वर्ष तक ढूंढती रही थी। जिसके बाद योगी सरकार ने पाटीदार को निलंबित कर केंद्र सरकार को उन्हे बर्खास्त करने की सिफारिश की थी। जिसके बाद हालही में केंद्र सरकार के कार्मिक एवम प्रशिक्षण विभाग (DOPT) ने मणिलाल पाटीदार को बर्खास्त कर आईपीएस सूची से उनका नाम हटा दिया है।

कारोबारी इंद्रकांत की मौत के बाद फरार हुआ था मणिलाल

यूपी में महोबा के कबरई में जवाहर नगर निवासी क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी ने 7 सितंबर 2020 को तत्कालीन जिले के एसपी मणिलाल पाटीदार पर रिश्वत मांगने का आरोप लगाते हुए एक वीडियो बनाया था. जिसे कारोबारी ने एक शिकायती पत्र के साथ सीएम योगी और डीजीपी को भी भेजा था. वीडियो में व्यापारी ने कबरई पत्थरमंडी ठप होने की वजह से पैसे न देने की असमर्थता जताई थी. साथ ही कबरई थाना प्रभारी पर भी गंभीर आरोप लगाए थे. इंद्रकांत त्रिपाठी ने वीडियो में अपनी हत्या की आशंका भी जताई थी. वीडियो वायरल होने के एक दिन बाद इंद्रकांत त्रिपाठी अपनी कार में घायल हालत में मिले. उनके गले पर गोली लगी थी. इलाज के लिए उन्हें कानपुर के रीजेंसी अस्पताल ले जाया गया, जहां 13 सितंबर 2020 को उनकी मौत हो गई.

मणिलाल पर दर्ज हुआ था केस

11 सितंबर 2020 को शासन के निर्देश पर पुलिस ने मणिलाल पाटीदार, कबरई थाने के प्रभारी देवेंद्र शुक्ला, कॉन्स्टेबल अरुण यादव और दो व्यापारियों पर आईपीसी की धारा 302 के तहत केस दर्ज किया. यूपी सरकार ने एसआईटी का गठन किया, जिसमें आत्महत्या की पुष्टि हुई इसके बाद आईपीसी की धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप) में मामला दर्ज किया गया.कारोबारी इन्द्रकांत के आरोप और उनकी संदिग्घ मौत के बाद शासन ने मणिलाल पाटीदार को निलंबित कर पुलिस महानिदेशक कार्यालय से अटैच किया गया। लेकिन, वो रातों-रात फरार हो गया। पुलिस ने पाटीदार के ऊपर एक लाख का इनाम भी घोषित किया था। करीब दो वर्ष फरारी काटने के बाद उसने लखनऊ की कोर्ट में अक्टूबर माह को सरेंडर कर दिया। तब से ही वह जेल में बंद है।

कौन है IPS मणिलाल पाटीदार ?

राजस्थान के डूंगरपुर के रहने वाले मणिलाल पाटीदार यूपी कैडर का IPS अधिकारी हैं. मणिलाल का जन्म डूंगरपुर के रामजी पाटीदार के घर 25 नवंबर 1989 को हुआ था. साल 2013 में मणिलाल यूपीएससी परीक्षा पास की थी. इलेक्ट्रॉनिक टेलीकम्यूनिकेशन से बीटेक के बाद ​ही मणिलाल सिविल सेवा परीक्षा की तैयारियों में जुट गए थे। इन्हें लखनऊ में रहने के बाद महोबा में एसपी बनाया गया था। महोबा में एसपी की कुर्सी संभालने के साथ ही मणिलाल पाटीदार रातों-रात अमीर बनने के ख्वाब देखने लगा था। यहीं से उनके बुरे दिन शुरु हो गए।


Information is Life