कानपुर के “हर्षद मेहता” शेयर ब्रोकर संजय सोमानी को 22 करोड़ के घोटाले में 3 और सीए को 5 साल की सजा।

वर्ष 1994 में इलाहाबाद बैंक कानपुर में हुआ था घोटाला, 30 साल बाद आया फैसला लखनऊ। बहुचर्चित संजय...

IAS-IPS अफसरों की सियासत में एंट्री : आज इस्तीफा कल चुनाव।

IAS-IPS In Politics : 1993 में केंद्रीय गृह सचिव नरिंदर नाथ वोहरा की अगुआई में एक कमेटी बनी। इसे...

IIT से बीटेक, फिर IPS और अब IAS टॉपर काफी रोचक है आदित्य श्रीवास्तव की कहानी

आदित्य के पिता अजय श्रीवास्तव सेंट्रल ऑडिट डिपार्टमेंट में AAO के पद पर कार्यरत हैं। छोटी बहन...

कानपुर लोकसभा चुनाव 2024 : विकास के लिए समर्पित सांसद को चुनेंगे मतदाता।

(अभय त्रिपाठी) कानपुरः यूपी की कानपुर लोकसभा सीट को मैनचेस्टर ऑफ यूपी के नाम से जानी जाती है।...

Kanpur : भाजपा प्रत्याशी रमेश अवस्थी ने इंडी गठबंधन के प्रभाव वाले कैन्ट, आर्यनगर और सीसामऊ में तेज की कदमताल..

आर्यनगर की गलियों में जाकर जनता से मिले, मिला जनसमर्थन कानपुर। जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ...

Kanpur : भाजपा प्रत्याशी रमेश अवस्थी ने इंडी गठबंधन के प्रभाव वाले कैन्ट, आर्यनगर और सीसामऊ में तेज की कदमताल..

-आर्यनगर की गलियों में जाकर जनता से मिले, मिला जनसमर्थन कानपुर। जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ...

इतिहास के पन्नों में : कानपुर के इस इलाके को आखिर कैसे मिला तिलक नगर नाम??

(अभय त्रिपाठी) कानपुर : उत्तर प्रदेश की राजधानी तो नहीं है, पर इस सूबे का सबसे खास शहर तो है। एक...

#Kanpur : लोकसभा प्रत्याशी आलोक मिश्र और विधायक समेत 200 लोगों पर केस दर्ज, अमिताभ बोले लोकतंत्र नहीं लाठीतंत्र।

यूपी के कानपुर (Kanpur) में इंडिया गठबंधन (India Alliance) के लोकसभा प्रत्याशी और समाजवादी पार्टी...

Kanpur : चोरों के हौसले बुलंद,स्वरूप नगर में दिनदहाड़े चोर स्कूटी लेकर रफूचक्कर।

कानपुर : बेखौफ अपराधी पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए शहर में ताबड़तोड़ चोरी की वारदातों...

Kanpur News : मरीजों की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं हैः मुख्य सचिव

कानपुर। प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने कहा कि मरीजों की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं है।...
Information is Life

मुख्तार अंसारी को गाजीपुर के मोहम्मदाबाद स्थित कालीबाग कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया गया, प्रशासन के द्वारा सिर्फ परिवार के लोगों को ही मिट्टी देने की इजाजत दी गई. यूपी के माफिया डॉन मुख्तार अंसारी की गुरुवार को मौत हो गई थी. मौत का कारण कार्डियक अरेस्ट बताया गया है. बांदा मेडिकल कॉलेज में मुख्तार का पोस्टमार्टम पूरा हुआ. मुख्तार की मौत के बाद गाजीपुर और मऊ समेत पूरे उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट है. पुलिस ने सभी जिलों में पहरा बढ़ा दिया है।

उत्तर प्रदेश के मऊ से पूर्व विधायक और माफिया डॉन मुख्तार को गाजीपुर के मोहम्मदाबाद स्थित कालीबाग कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया गया, प्रशासन के द्वारा सिर्फ परिवार के लोगों को ही मिट्टी देने की इजाजत दी गई. बता दें कि मुख्तार अंसारी की गुरुवार को मौत हो गई थी. मौत का कारण कार्डियक अरेस्ट बताया गया. बांदा मेडिकल कॉलेज में मुख्तार का पोस्टमार्टम हुआ, जिसके बाद बेटे उमर अंसारी के साथ गाजीपुर लाया गया. मुख्तार की मौत के बाद गाजीपुर और मऊ समेत पूरे उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट है. पुलिस ने सभी जिलों में पहरा बढ़ा दिया है.

हत्या, रंगदारी जैसे कई अपराधों में दोषी मुख्तार अंसारी का जन्म गाजीपुर जिले के मोहम्मदाबाद में हुआ था. मुख्तार के पिता का नाम सुबहानउल्लाह अंसारी और मां का नाम बेगम राबिया था. गाजीपुर में मुख्तार अंसारी के परिवार की पहचान एक राजनीतिक परिवार की है. 17 साल से ज्यादा वक्त से जेल में बंद रहे मुख्तार अंसारी के दादा डॉक्टर मुख्तार अहमद अंसारी स्वतंत्रता सेनानी थे. गांधी जी के साथ काम करते हुए वह 1926-27 में कांग्रेस के अध्यक्ष भी रहे. मुख्तार के नाना ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान को 1947 की लड़ाई में शहादत के लिए महावीर चक्र से नवाजा गया था.

मुख्तार अंसारी को किया गया सुपुर्द-ए-खाक, सिर्फ परिवार वालों को मिली मिट्टी देने की इजाजत

मुख्तार अंसारी को गाजीपुर के मोहम्मदाबाद स्थित कालीबाग कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया गया, प्रशासन के द्वारा सिर्फ परिवार के लोगों को ही मिट्टी देने की इजाजत दी गई. मुख्तार के जनाजे में समर्थकों की भारी भीड़ देखने को मिली. हालांकि बाहर से आए लोगों को कब्रिस्तान के अंदर नहीं जाने दिया गया. मौके पर डीएम सहित प्रशासन के आला अधिकारी मौजूद थे और लोगों को कब्रिस्तान के अंदर जाने से रोका जा रहा था.

मुख्तार अंसारी को किया जा रहा सुपुर्द-ए-खाक, समर्थकों को कब्रिस्तान के बाहर रोक गया

मुख्तार अंसारी को सुपुर्द-ए-खाक किया जा रहा है. मुख्तार अंसारी के जनाजे के साथ कब्रिस्तान के पास आए समर्थक कब्रिस्तान के अंदर जाने की कोशिश कर रहे थे लेकिन सिर्फ परिजनों को ही अंदर जाने की इजाजत है.

समर्थकों की भारी भीड़ और सुरक्षा के बीच हुई मुख्तार अंसारी के जनाजे की नमाज, अब किया जाएगा सुपुर्द-ए-खाक

समर्थकों की भारी भीड़ और कड़ी सुरक्षा के बीच मुख्तार अंसारी के जनाजे की नमाज हो चुकी है. अब सुपुर्द-ए-खाक के लिए जनाजे को कब्रिस्तान ले जाया जा रहा है. मुख्तार अंसारी के बेटे उमर अंसारी आए हुए लोगों से अपील कर रहे हैं कि वो कब्रिस्तान के अंदर जाने की कोशिश ना करें. जनाजे की नमाज में आए लोग मुख्तारी अंसारी की कब्र पर मिट्टी डालना चाहते हैं.

कब्रिस्तान के लिए रवाना हुआ मुख्तार अंसारी का जनाजा, सिर्फ परिवार को मिली है मिट्टी देने की इजाजत

समर्थकों की भारी भीड़ और कड़ी सुरक्षा के बीच मरहूम मुख्तार अंसारी का जनाजा कब्रिस्तान के लिए रवाना हो गया है. मुख्तार को जनाजे की नमाज के बाद दफनाया जाएगा.

मुख्तार अंसारी के जनाजे में सिर्फ परिवार वालों को शामिल होने की इजाजत

मुख्तार अंसारी के जनाजे के दौरान कब्रिस्तान में परिवार के अलावा किसी को भी जाने पर रोक लगाई है. पुलिस प्रशासन ने निर्देश दिया है कि परिवार के अलावा कोई भी कब्रिस्तान नहीं जा सकेगा. मौके पर भारी पुलिस बल मौजूद है, एक्स्ट्रा फोर्स लगाई गई है और पुलिस ने पूरे रास्ते को ब्लॉक कर दिया है.

मुख्तार अंसारी के घर पर लोगों की भीड़, लगाए जिंदाबाद के नारे

मुख्तार अंसारी का शव गाजीपुर के मोहम्मदाबाद पहुंचने के बाद जनाजे की तैयारी चल रही है. घर पर शव रखा हुआ है और मौके पर भारी संख्या में लोगों का जमावड़ा लगा हुआ है. मुख्तार अंसारी के घर के बाहर कुछ लोगों ने ‘मुख्तार अंसारी जिंदाबाद’ के नारे लगाए. मौके पर पुलिस बल तैनात है और सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं.

मुख्तार अंसारी के जनाजे में शामिल होने पहुंचा शहाबुद्दीन का बेटा ओसामा

मुख्तार अंसारी के तदफीन में शामिल होने के लिए गैंगस्टर-राजनेता मरहूम मोहम्मद शहाबुद्दीन का बेटा ओसामा गाजीपुर पहुंचा है. ओसामा, जनाजे की नमाज में शामिल होने के लिए मुख्तार अंसारी के मोहम्मदाबाद स्थित घर पहुंचा है.


Information is Life