कानपुर के “हर्षद मेहता” शेयर ब्रोकर संजय सोमानी को 22 करोड़ के घोटाले में 3 और सीए को 5 साल की सजा।

वर्ष 1994 में इलाहाबाद बैंक कानपुर में हुआ था घोटाला, 30 साल बाद आया फैसला लखनऊ। बहुचर्चित संजय...

IAS-IPS अफसरों की सियासत में एंट्री : आज इस्तीफा कल चुनाव।

IAS-IPS In Politics : 1993 में केंद्रीय गृह सचिव नरिंदर नाथ वोहरा की अगुआई में एक कमेटी बनी। इसे...

IIT से बीटेक, फिर IPS और अब IAS टॉपर काफी रोचक है आदित्य श्रीवास्तव की कहानी

आदित्य के पिता अजय श्रीवास्तव सेंट्रल ऑडिट डिपार्टमेंट में AAO के पद पर कार्यरत हैं। छोटी बहन...

कानपुर लोकसभा चुनाव 2024 : विकास के लिए समर्पित सांसद को चुनेंगे मतदाता।

(अभय त्रिपाठी) कानपुरः यूपी की कानपुर लोकसभा सीट को मैनचेस्टर ऑफ यूपी के नाम से जानी जाती है।...

Kanpur : भाजपा प्रत्याशी रमेश अवस्थी ने इंडी गठबंधन के प्रभाव वाले कैन्ट, आर्यनगर और सीसामऊ में तेज की कदमताल..

आर्यनगर की गलियों में जाकर जनता से मिले, मिला जनसमर्थन कानपुर। जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ...

Kanpur : भाजपा प्रत्याशी रमेश अवस्थी ने इंडी गठबंधन के प्रभाव वाले कैन्ट, आर्यनगर और सीसामऊ में तेज की कदमताल..

-आर्यनगर की गलियों में जाकर जनता से मिले, मिला जनसमर्थन कानपुर। जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ...

इतिहास के पन्नों में : कानपुर के इस इलाके को आखिर कैसे मिला तिलक नगर नाम??

(अभय त्रिपाठी) कानपुर : उत्तर प्रदेश की राजधानी तो नहीं है, पर इस सूबे का सबसे खास शहर तो है। एक...

#Kanpur : लोकसभा प्रत्याशी आलोक मिश्र और विधायक समेत 200 लोगों पर केस दर्ज, अमिताभ बोले लोकतंत्र नहीं लाठीतंत्र।

यूपी के कानपुर (Kanpur) में इंडिया गठबंधन (India Alliance) के लोकसभा प्रत्याशी और समाजवादी पार्टी...

Kanpur : चोरों के हौसले बुलंद,स्वरूप नगर में दिनदहाड़े चोर स्कूटी लेकर रफूचक्कर।

कानपुर : बेखौफ अपराधी पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए शहर में ताबड़तोड़ चोरी की वारदातों...

Kanpur News : मरीजों की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं हैः मुख्य सचिव

कानपुर। प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने कहा कि मरीजों की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं है।...
Information is Life

यूपी के कानपुर से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है, जहां पुलिस ने देर रात चेकिंग के दौरान एक फर्जी आयकर अधिकारी को गिरफ्तार किया है. वह पिछले आठ महीने से नकली आईडी कार्ड दिखाकर खुद को इनकम टैक्स ऑफिसर बता रहा था. पूछताछ में पता चला कि वह ऑफिसर बताकर लोगों पर रौब झाड़ रहा था. पुलिस जब उसके घर पहुंची तो सच्चाई जान परिवार वालों के होश उड़ गए.

पकड़े गए इस नटवरलाल ने अपने मां-बाप, रिश्तेदार, मोहल्ले वालों से भी झूठ बोल रखा था. उसने सभी को बता रखा था कि उसकी आयकर विभाग में नौकरी लग गई है और वो ऑफिसर बन गया है. लोग भी उसके झांसे में आ गए और उसका सम्मान करने लगे. लेकिन बीते दिन (3 अप्रैल) आरोपी की पोल खुल गई.

दरअसल, कानपुर पुलिस ने आचार संहिता लागू होने के बाद शहर में चेकिंग अभियान चलाया हुआ है. 3 अप्रैल को शाम के समय एसीपी कल्याणपुर फोर्स के साथ रावतपुर इलाके में चेकिंग कर रहे थे. इतने में एक काले रंग की कार आई जिसमें बड़ी सी नेम प्लेट लगी थी और उसमें भारत सरकार और आयकर अधिकारी लिखा हुआ था.
पुलिस को नहीं दे पाया जवाब, फिर पकड़ा गया
जब पुलिस वालों ने पूछताछ की तो रितेश शर्मा नाम के इस युवक ने हनक में बताया कि वह आयकर अधिकारी है. इस बीच एक पुलिस वाले ने पूछा कि वह किस पोस्ट पर तैनात है तो रितेश जवाब नहीं दे पाया. शक होने पर पुलिस वालों ने उससे सख्ती से पूछताछ की और थाने ले गई, जहां पूरा भेद खुल गया.

पूछताछ में सामने आया कि रितेश पिछले आठ महीने से फर्जी आयकर अधिकारी बनकर घूम रहा है. इतना ही नहीं उसने अपने घरवालों को भी ये बता रखा था कि वह इनकम टैक्स में अधिकारी बन गया है. उसकी बात मानकर परिवार वालों ने खुशी में पूजा-पाठ करवाया. 200 से 250 लोगों को खाना खिलाया और जमकर जश्न मनाया था.

रोज ड्यूटी करने जाता था

रितेश शर्मा रोजाना नौकरी के वक्त पर घर से निकल जाता और शाम के वक्त वापस आता. पहले उसके पास एक बाइक थी लेकिन नौकरी की बात कहकर उसने अपने पिता से कार ले ली. उसने पिता से कहा कि आपका बेटा एक आयकर अधिकारी है. अच्छा नहीं लगेगा अगर वो बाइक से जाएगा.

जानकारी के मुताबिक, रितेश एसएससी की तैयारी कर रहा था. तैयारी के बाद भी सेलेक्शन न होने के कारण उसने फर्जी ऑफिसर बनने की योजना बनाई. फिलहाल, पुलिस ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. पुलिस ने उसकी कार, फर्जी नंबर प्लेट, फर्जी आईडी कार्ड आदि को जब्त कर लिया है. साथ ही पिछले आठ महीने के बैंक अकाउंट को भी खंगाल रही है कि कहीं उसने ठगी तो नहीं की है.


Information is Life