CSA Kanpur News: 100 साल से ज्यादा पुराने संस्थान यूथ को स्टार्टअप देने में फेल एचबीटीयू और सीएसए में स्टार्टअप पर लगा ‘ब्रेक

जहां एक ओर सिटी में आईआईटी सीएसजेएमयू एआईटीडी और यूपीटीटीआई के स्टार्टअप इनोवेशन और इंक्यूबेशन...

कानपुर कमिश्नरेट पुलिस ने युवती से 36 लाख के साइबर फ्रॉड का किया खुलासा, 2 अरेस्ट।

➡️एनजीओ संचालक ने सिक्योरिटी गार्ड के खाते में 36 लाख छह हजार रुपये कराए स्थानांतरित ➡️साइबर थाना...

Kanpur : दबंगो ने प्लाट में किया कब्जा माँग रहे रंगदारी, पुलिस कमिश्नर ने दिए कार्यवाही के निर्देश।

उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने जहाँ सख्त निर्देश जारी कर रखे हैं कि किसी की जमीन पर अवैध...

लखनऊ : रिटायर्ड आईपीएस प्रेम प्रकाश ने ज्वाइन किया बीजेपी।

-BJP ज्वाइन करने पर बोले रिटायर्ड IPS प्रेम प्रकाश –देश का कर्ज उतारने का मौका मिला...

Kanpur : एंडोक्राइन सोसाइटी आफ इंडिया तथा संयोजक डॉ.शिवेन्द्र वर्मा ने सेटेलाइट सिंपोजियम का किया आयोजन।

कानपुर : रविवार को एंडोक्राइन सोसाइटी ऑफ इंडिया की तरफ से डॉक्टर शिवेंद्र वर्मा की अगुआई में...

Uptvlive Kanpur : रील और वीडियो देखना आपको बना रहा है एडिक्ट – चेतन भगत

द स्पोर्ट्स हब ने दिया चेतन भगत से रूबरू होने का मौका लोकप्रिय भारतीय लेखक और प्रेरक वक्ता हैं...

RCB ने किया IPL के इतिहास का सबसे बड़ा कमबैक, RCB ने लगातार 6 Match जीतकर प्लेऑफ के लिये क्वालीफाई किया..

बेंगलुरु: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में ऐसा कभी नहीं हुआ कि कोई टीम सीजन के लीग चरण में अपने पहले...

प्रयागराज : गुंडा एक्ट के दुरुपयोग पर दो माह में हर्जाना देने का निर्देश..

प्रयागराज : इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक आपराधिक केस के आधार पर जारी गुंडा नियंत्रण कानून की धारा-3 के...

Uptvlive Kanpur : मांग में तेजी से एक हफ्ते में 6 हजार रुपये बढ़ी चांदी, सोने का भी नया रिकार्ड..

कानपुर : जबरदस्त मांग के चलते चांदी की कीमत में लगातार वृद्धि हो रही है। पिछले एक सप्ताह में ही...

जीएसटी पोर्टल की नई पहल: पान मसाला और तंबाकू निर्माताओं के लिए मशीन पंजीकरण और रिपोर्टिंग अनिवार्य

पान मसाला और तंबाकू क्षेत्रों में कर चोरी से निपटने के प्रयास में, जीएसटी पोर्टल ने निर्माताओं के...
Information is Life

यूपी के कानपुर (Kanpur) में इंडिया गठबंधन (India Alliance) के लोकसभा प्रत्याशी और समाजवादी पार्टी के विधायक समेत 200 लोगों पर केस दर्ज किया गया है. इन पर आरोप है कि आदर्श आचार संहिता और धारा 144 का उल्लंघन किया है, साथ ही सरकारी काम में बाधा भी डाली. बता दें कि बीते दिनों इंडिया गठबंधन के नेताओं और पुलिस के बीच थाने में नोकझोंक हो गई थी।

UP News: कानपुर पुलिस (Kanpur police) ने INDIA ब्लॉक के लोकसभा प्रत्याशी (India Alliance Lok Sabha candidate) और सपा विधायक समेत 200 लोगों के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन का मामला दर्ज किया है. आरोप है कि पुलिस से गलत भाषा का प्रयोग किया गया और सरकारी काम में बाधा डाली गई. दरअसल, ईद के दिन इंडिया गठबंधन के नेताओं और पुलिस के बीच कई घंटों तक बहस होती रही थी. थाने के अंदर सपा विधायक ने एसीपी को चैलेंज तक कर दिया था, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था.

इस मामले को लेकर पनकी थाने की पुलिस ने आचार संहिता उल्लंघन के मामले में सपा नेता सम्राट विकास यादव को हिरासत में ले लिया गया था. इसके बाद सपा और कांग्रेसी नेता भड़क गए और थाने का घेराव करते हुए धरने पर बैठ गए थे. समाजवादी पार्टी विधायक ने आक्रामक होते हुए चैलेंज कर दिया था कि औकात हो तो यही कार्रवाई रामनवमी के दिन करके दिखाओ. इसी वीडियो के आधार पर थाने की cctv रिकॉर्डिंग निकाली गई और पुलिस ने जांच करके अब केस दर्ज कर लिया है।

क्या था पूरा मामला

कानपुर पुलिस के मुताबिक, अरमापुर ईदगाह में परंपरागत तरीके से इस बार भी नमाज होनी थी. सभी व्यवस्थाएं ठीक थीं. समाजवादी नेता सम्राट विकास के लोग स्टॉल में पार्टी का फ्लेक्स लगाकर लस्सी बांट रहे थे. इस मौके पर मौजूद पुलिस ने आदर्श आचार संहिता (MCC) के चलते इसे हटाने को कहा तो सपा नेता सम्राट विकास पुलिस से ही भिड़ गए. इसके बाद डीसीपी विजय ढुल भी वहां पहुंच गए और सपा नेता से उनकी नोकझोंक शुरू हो गई.

कानपुर पुलिस ने आरोप लगाया है कि सपा नेता लोगों को सड़क पर नमाज पढ़ने के लिए भी उकसा रहे थे, जिसके बाद पुलिस ने धारा 151 के तहत कार्रवाई करते हुए सपा नेता को हिरासत में ले लिया और पनकी थाने ले आई. इंडिया गठबंधन के नेताओं को इस बात का पता चला तो वह सपा विधायक अमिताभ बाजपेयी और कांग्रेस नेता आलोक मिश्रा के नेतृत्व में थाने पहुंच गए।

थाने पहुंचकर जब इंस्पेक्टर से बात कर रहे थे तो पनकी इंस्पेक्टर मानवेन्द्र सिंह ने उन्हें उच्च अधिकारियों पास जाने की सलाह दी. इतने में सपा विधायक नाराज हो गए और इंस्पेक्टर को खरी-खोटी सुना दी. इसके बाद एसीपी को मौके पर भेजा गया. सपा विधायक ने एसीपी को भी चैलेंज दे डाला और औकात की बात कर दी थी और कहा था कि यही कार्रवाई रामनवमी में करके दिखाना, तब हम देखेंगे आपकी हैसियत.

सपा विधायक ने कहा था कि आप धर्म के आधार पर भेदभाव करेंगे. उसका कसूर इतना है कि वह सपा का नेता है. इसके बाद सभी नेता धरने पर बैठ गए और थाने के बाहर भीड़ जमा होने लगी थी. पुलिस ने भारी फोर्स मौके पर बुला ली थी. INDIA ब्लॉक के नेताओं ने अल्टीमेटम दिया था कि या तो सपा नेता को छोड़ा जाए या फिर उन्हें भी गिरफ्तार किया जाए।

पुलिस ने मामले में क्या कार्रवाई की?

पुलिस के मुताबिक, जांच के दौरान थाने पर उपलब्ध CCTV फुटेज निकाली गई. जब वीडियो देखा गया तो स्पष्ट हो रहा है कि आचार संहिता का उल्लंघन किया गया. धारा 144 का भी उल्लंघन हुआ है. आरोपियों ने थाने में आक्रामक भाषा का प्रयोग करते हुए धरना प्रदर्शन किया, जिसके कारण लगभग एक घंटे से अधिक समय तक सरकारी कार्य बाधित रहा, जिसके आधार पर पुलिस ने सभी पर केस दर्ज किया है।


Information is Life