Jyoti Murder Case Kanpur: हत्यारें पीयूष को न्यायालय से राहत नहीं…

अपर जिला जज कोर्ट ने 2022 में सुनाई थी छह को उम्र कैद की सजा.. उच्च न्यायालय से नहीं मिली राहत तो...

Kanpur लायर्स चुनाव का परिणाम घोषित,अध्यक्ष श्याम नारायण सिंह और अभिषेक तिवारी बने महामंत्री।

कानपुर : लायर्स एसोसिएशन के नये अध्यक्ष और महामंत्री चुन लिये गये हैं। .बुधवार देर शाम अध्यक्ष पद...

कानपुर के पोस्टर पर मचा बवाल राहुल गांधी ‘कृष्ण’ और अजय राय बने अर्जुन….

राहुल गांधी की भारत जोड़ा न्याय यात्रा कानपुर पहुंची है. कानपुर के एक कांग्रेस नेता द्वारा लगवाया...

पश्चिम बंगाल में रिपब्लिक बांग्ला के रिपोर्टर को किया गिरफ्तार,जर्नलिस्ट क्लब ने की कड़ी निन्दा।

पश्चिम बंगाल में ‘रिपब्लिक बांग्ला’ टीवी न्यूज़ चैनल के पत्रकार सन्तु पान को गिरफ्तार कर लिया गया...

रेड टेप कल्चर’ को ‘रेड कार्पेट कल्चर’ में बदला, UP ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में बोले PM मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं जब भी विकसित भारत की बात करता हूं तो इसके लिए नई सोच की बात करता...

IPS Amitabh Yash: एनकाउंटर स्पेशलिस्ट अमिताभ यश बने यूपी के नए ADG ला एंड ऑर्डर, जाने इनके बारे में।

IPS Amitabh Yash: यूपी पुलिस के सबसे चर्चित अधिकारियों में शामिल आईपीएस अमिताभ यश एडीजी ला एंड...

Kanpur News : पूर्व शिक्षा मंत्री अमरजीत सिंह जनसेवक का निधन

पूर्व शिक्षा मंत्री अमरजीत सिंह जनसेवक (71) का निधन हो गया है। बताया जा रहा है कि ठंड लगने से...

यूपी में पांच आईपीएस अफसरों का तबादला। विपिन मिश्रा कानपुर में एडिशनल सीपी।

यूपी में पांच आईपीएस अफसरों का तबादला। विपिन मिश्रा कानपुर में एडिशनल सीपी। कमलेश दीक्षित डीसीपी...

#Kanpur News : जेके कैंसर बने रीजनल सेंटर, बढ़ेंगी सुविधाएं…

➡️चौथी बार उठी मांग, विधानसभा की याचिका कमेटी को दिया गया पत्र। कानपुर। जेके कैंसर को रीजनल सेंटर...
Information is Life

➡️पुलिस कमिश्नर समेत 11 आईपीएस के कंधों पर कानपुर कमिश्नरेट की सुरक्षा व क्राइम कंट्रोल की जिम्मेदारी है। कानपुर में लगातार हत्याएं और गोलियां चल रही हैं। मगर कमिश्नरी सिस्टम होने के बावजूद-शहर में तैनात अफसरों की भारी-भरकम फौज बेखौफ बदमाशो पर अंकुश लगाने में नाकाम साबित हो रही है। वारदात लगातार बढ रही हैं। जबकि पहले केवल अकेले एसएसपी ही शहर की कमान संभालता था, शहर की सुरक्षा और बेखौफ बदमाशों की वारदात से पुलिस पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। आखिर कब पुलिस दनादन वारदात कर रहे अपराधियों पर शिकंजा कसेगी, बदमाशों ने 24 घँटे में ताबड़तोड़ पांच हत्याएं करके कानपुर को क्राइमपुर बनाकर रख दिया है शहर में दहशत माहौल है।

24 घंटे में 3 वारदातों में 5 की हत्या।

➡️30 सितंबर की देररात फजलगंज में राहुल यादव की पीट-पीटकर हत्या।

➡️01 अक्तूबर को बर्रा में युवा सपा नेता हर्ष यादव की गोली मारकर हत्या।

➡️01 अक्तूबर की देररात फजलगंज में दंपति और उनके बेटे की हत्या।

कमिश्नरेट कानपुर साउथ ज़ोन में अपराधों की बाढ़।

केवल मर्डर की वारदातों की बात करें तो पिछले दो महीने (एक अगस्त से एक अक्तूबर तक) में सिर्फ साउथ ज़ोन में 10 मर्डर हुए। इसमें फजलगंज थानाक्षेत्र में सबसे अधिक पांच, नौबस्ता और बर्रा में दो-दो और गोविंदनगर में एक मर्डर की वारदात हुई। अन्य छह मर्डर पूर्वी और पश्चिमी जोन के थानाक्षेत्रों में हुईं। इनमें कल्याणपुर में मर्डर की दो वारदातें हुईं। इसमें रेप के बाद युवती का मर्डर का जघन्य वारदात भी शामिल है।

खुलासे में छूटा पसीना

इतने विशेषज्ञ अफसरों के होने के बावजूद न घटनाएं थम रही हैं और न ही कुछ बड़ी वारदातों का खुलासा हो पा रहा है। गोविंदनगर स्थित शिवम अपार्टमेंट पड़ी 14 लाख की डकैती का पुलिस खुलासा नहीं कर सकी है। नौबस्ता में राम नाम के युवक की हत्या और गोली मारकर दंपति से लूट की वारदात का भी पर्दाफाश नहीं हो सका है। पिछले दो महीने में दुष्कर्म के एक दर्जन से अधिक केस दर्ज किये गए हैं। इसके अलावा आठ टप्पेबाजी की घटनाएं हुईं, जिनमें लाखों रुपये के जेवरात और नकदी शातिरों ने पार कर दी।


Information is Life