कानपुर के “हर्षद मेहता” शेयर ब्रोकर संजय सोमानी को 22 करोड़ के घोटाले में 3 और सीए को 5 साल की सजा।

वर्ष 1994 में इलाहाबाद बैंक कानपुर में हुआ था घोटाला, 30 साल बाद आया फैसला लखनऊ। बहुचर्चित संजय...

IAS-IPS अफसरों की सियासत में एंट्री : आज इस्तीफा कल चुनाव।

IAS-IPS In Politics : 1993 में केंद्रीय गृह सचिव नरिंदर नाथ वोहरा की अगुआई में एक कमेटी बनी। इसे...

IIT से बीटेक, फिर IPS और अब IAS टॉपर काफी रोचक है आदित्य श्रीवास्तव की कहानी

आदित्य के पिता अजय श्रीवास्तव सेंट्रल ऑडिट डिपार्टमेंट में AAO के पद पर कार्यरत हैं। छोटी बहन...

कानपुर लोकसभा चुनाव 2024 : विकास के लिए समर्पित सांसद को चुनेंगे मतदाता।

(अभय त्रिपाठी) कानपुरः यूपी की कानपुर लोकसभा सीट को मैनचेस्टर ऑफ यूपी के नाम से जानी जाती है।...

Kanpur : भाजपा प्रत्याशी रमेश अवस्थी ने इंडी गठबंधन के प्रभाव वाले कैन्ट, आर्यनगर और सीसामऊ में तेज की कदमताल..

आर्यनगर की गलियों में जाकर जनता से मिले, मिला जनसमर्थन कानपुर। जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ...

Kanpur : भाजपा प्रत्याशी रमेश अवस्थी ने इंडी गठबंधन के प्रभाव वाले कैन्ट, आर्यनगर और सीसामऊ में तेज की कदमताल..

-आर्यनगर की गलियों में जाकर जनता से मिले, मिला जनसमर्थन कानपुर। जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ...

इतिहास के पन्नों में : कानपुर के इस इलाके को आखिर कैसे मिला तिलक नगर नाम??

(अभय त्रिपाठी) कानपुर : उत्तर प्रदेश की राजधानी तो नहीं है, पर इस सूबे का सबसे खास शहर तो है। एक...

#Kanpur : लोकसभा प्रत्याशी आलोक मिश्र और विधायक समेत 200 लोगों पर केस दर्ज, अमिताभ बोले लोकतंत्र नहीं लाठीतंत्र।

यूपी के कानपुर (Kanpur) में इंडिया गठबंधन (India Alliance) के लोकसभा प्रत्याशी और समाजवादी पार्टी...

Kanpur : चोरों के हौसले बुलंद,स्वरूप नगर में दिनदहाड़े चोर स्कूटी लेकर रफूचक्कर।

कानपुर : बेखौफ अपराधी पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए शहर में ताबड़तोड़ चोरी की वारदातों...

Kanpur News : मरीजों की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं हैः मुख्य सचिव

कानपुर। प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने कहा कि मरीजों की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं है।...
Information is Life

➡️लखीमपुर में खूनखराबे की घटना के बाद सियासी गलियारों में तूफान खड़ा हो गया है। सभी विपक्षी दलों में घटना को लेकर उबाल है। बुन्देलखण्ड से लेकर पूरे सेंट्रल यूपी में सुबह से समाजवादी पार्टी और कांग्रेस कार्यकर्ता सड़कों पर हैं। बुन्देलखण्ड के अलावा, सेंट्रल यूपी के कानपुर, कानपुर देहात, हरदोई, इटावा, औरैया, फतेहपुर, कन्नौज और उन्नाव में भी सपाइयों ने सड़कों पर उतरकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी और हंगामा किया। उधर, चित्रकूट से सूचना मिल रही है कि आज डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का दौरा टल गया।

➡️कानपुर के सपाइयों में जबरदस्त आक्रोश

कानपुर-फर्रुखाबाद रेल रूट बाधित करने की घोषणा के बाद पुलिस-प्रशासन सकते में आ गया। आनन-फानन भारी पुलिस बल गुमटी चौराहे पर पहुंच गया और एक बस से भरकर आए सपा विधायक समेत आधा सैकड़ा सपाइयों को पुलिस ने सांकेतिक रूप से गिरफ्तार कर पुलिस लाइन भेज दिया। कांग्रेस पार्टी ने कार्यकर्ताओं ने भी जगह-जगह प्रदर्शन किया। सपाइयों को पुलिस लाइन भेजते समय एक सपा नेता का सिर भी फट गया है इससे सपाइयों और पुलिस के बीच तीखी नोकझोंक और हाथापाई भी हुई।

सपाइयों को गिरफ्तार कर पुलिस लाइन भेजा।

समाजवादी पार्टी के विधायक इरफान सोलंकी आधा सैकड़ा कार्यकर्ताओं के साथ गुमटी रेलवे क्रासिंग चौराहा पर धरने पर बैठ गए। रेल मार्ग पर ट्रेन रोकने के प्रयास की आशंका से भारी पुलिस फोर्स पहुंच गया। अखिलेश यादव को रिहा करो का नारा लगा रहे कार्यकर्ताओं को पुलिस ने चारों ओर से घेर कर रोका। सपा नेताओं की पुलिस से झड़प भी हुई। जाम न हटाते देख पुलिस ने नेताओं को गिरफ्तार कर बस से पुलिस लाइन भेज दिया। चौराहा जाम होने पर पुलिस ने रास्ता डायवर्ट किया। प्रदर्शन करने वालों में सपा जिला अध्यक्ष डा.इमरान, अभिषेक गुप्ता मोनू, नरेंद्र सिंह पिंटू, अजय गुप्ता आदि शामिल है।

बर्रा चौराहा पर पर पुलिस ने रोका।

बर्रा सचान चौराहा पर सपा नेता बंटी यादव व पार्षद अर्पित यादव के नेतृत्व पर धरने पर बैठ गए। हाथ पर प्रदेश सरकार के खिलाफ नारे लिखी तख्ती लेकर निकले सपा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने यहां से आगे जाने से रोक लिया। यहां लगभग दो घंटे से कार्यकर्ता धरना पर बैठे हैं।

इटावा में उबाल, शिवपाल के बेटे ने संभाली कमान…

इटावा में कांग्रेस, आप, भाकियू, प्रसपा और सपा नेताओं ने जमकर हंगामा किया। दोपहर 12 बजे प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव के बेटे राष्ट्रीय महासचिव आदित्य यादव के नेतृत्व में बड़ी संख्या में प्रसपा कार्यकर्ता कचहरी पहुंचे और धरने पर बैठ गए। धरने के दौरान सरकार विरोधी नारेबाजी की गई। इस पर पुलिस ने 20 से अधिक प्रसपा नेताओं को गिरफ्तार कर लिया। कचहरी में ही सपा के जिलाध्यक्ष गोपाल यादव, पूर्व सांसद प्रेमदास कठेरिया के नेतृत्व में बड़ी संख्या में सपाईयों ने धरना दिया और सरकार विरोधी नारेबाजी की। पुलिस ने सपा नेताओं को भी गिरफ्तार करके पुलिस लाइन पहुंचाया। उधर, कचहरी में ही कांग्रेस, भाकियू व आप के नेताओं कार्यकर्ताओं ने लखीमपुरखीरी की घटना का विरोध जताते हुये धरना दिया और प्रदेश सरकार को बर्खास्त करने की मांग की। सारा दिन कचहरी परिसर में गहमागहमी का माहौल बना रहा।
फर्रुखाबाद में कांग्रेसियों और पुलिस से भिड़े नोकझोंक
फर्रुखाबाद में कांग्रेसी सड़कों पर उतरे फतेहगढ़ के मुख्य रोड पर धरना प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ जोरदार ढंग से नारेबाजी की मुख्य रोड पर धरना दिए जाने से पुलिस की कांग्रेसियों से नोकझोंक हो गई पुलिस ने कांग्रेसियों को अपनी निगरानी में लिया और पुलिस लाइन लेकर चली गई ।
राठ में सपाइयों का जोरदार प्रदर्शन
राठ में लोहिया वाहिनी के राष्ट्रीय प्रदेश सचिव सत्यपाल सिंह यादव के नेतृत्व में सैकड़ो सपा कार्यकर्ताओं ने नगर के व्यस्तम चौराहे पर मुख्यमंत्री व अजय मिश्रा का प्रतीकात्मक पुतला फूंका। तहसील परिसर पहुंचे सपा कार्यकर्ताओं व पुलिस के बीच जमकर धक्कामुक्की व नोकझोक हुई। सूचना पाकर एसडीएम व सीओ मौके पर पहुंचे और आक्रोशित सपाईयों को शांत कराया। वहीं, पूर्व विधायक डा. अम्बेश कुमारी के नेतृत्व में सैकड़ो किसानों ने केन्द्रीय राज्य मंत्री व उपमुख्यमंत्री को इस्तीफा दिए जाने को लेकर महामहिम राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन सौंपा।
उन्नाव में सपाइयों ने जाम की सडक
उन्नाव में सपायों ने कलेक्ट्रेट के सामने सड़क जाम कर दी। सपा जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र यादव के नेतृत्व मे सपाई सीएएम योगी, गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी की गिरफ्तारी की मांग और अखिलेश यादव की रिहाई की मांग कर रहे हैं। यहां पूर्व राज्यमंत्री सुधीर रावत, पूर्व विधयाक बदलू खा,जिला महसचिव सुरेश पाल, अंकित परिहार के अलावा तमाम सपाई मौजूद हैं।
चित्रकूट में सपाइयों ने हाईवे में जाम किया
चित्रकूट में सपाइयों ने मुख्यालय में जुलूस निकाला। प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए हाईवे में जाम लगाया। करीब आधे घंटे तक सपाई हंगामा काटते रहे। जानकारी मिलने पर एसपी धवल जायसवाल अन्य अधिकारियों के साथ पहुंचे। इसके बाद सपाइयों ने जाम खोला और तहसील पहुंचकर एसडीएम सदर को ज्ञापन सौंपा। आरोप लगाया कि प्रदेश में कानून व्यवस्था चरमरा गई है। इसके लिए गृह राज्यमंत्री व मुख्यमंत्री को जिम्मेदार ठहराते हुए इस्तीफे की मांग उठाई।
लखीमपुर खीरी की घटना के विरोध में सपा-प्रसपा के नेताओं ने दिया धरना, गिरफ्तारी


Information is Life