Jyoti Murder Case Kanpur: हत्यारें पीयूष को न्यायालय से राहत नहीं…

अपर जिला जज कोर्ट ने 2022 में सुनाई थी छह को उम्र कैद की सजा.. उच्च न्यायालय से नहीं मिली राहत तो...

Kanpur लायर्स चुनाव का परिणाम घोषित,अध्यक्ष श्याम नारायण सिंह और अभिषेक तिवारी बने महामंत्री।

कानपुर : लायर्स एसोसिएशन के नये अध्यक्ष और महामंत्री चुन लिये गये हैं। .बुधवार देर शाम अध्यक्ष पद...

कानपुर के पोस्टर पर मचा बवाल राहुल गांधी ‘कृष्ण’ और अजय राय बने अर्जुन….

राहुल गांधी की भारत जोड़ा न्याय यात्रा कानपुर पहुंची है. कानपुर के एक कांग्रेस नेता द्वारा लगवाया...

पश्चिम बंगाल में रिपब्लिक बांग्ला के रिपोर्टर को किया गिरफ्तार,जर्नलिस्ट क्लब ने की कड़ी निन्दा।

पश्चिम बंगाल में ‘रिपब्लिक बांग्ला’ टीवी न्यूज़ चैनल के पत्रकार सन्तु पान को गिरफ्तार कर लिया गया...

रेड टेप कल्चर’ को ‘रेड कार्पेट कल्चर’ में बदला, UP ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में बोले PM मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं जब भी विकसित भारत की बात करता हूं तो इसके लिए नई सोच की बात करता...

IPS Amitabh Yash: एनकाउंटर स्पेशलिस्ट अमिताभ यश बने यूपी के नए ADG ला एंड ऑर्डर, जाने इनके बारे में।

IPS Amitabh Yash: यूपी पुलिस के सबसे चर्चित अधिकारियों में शामिल आईपीएस अमिताभ यश एडीजी ला एंड...

Kanpur News : पूर्व शिक्षा मंत्री अमरजीत सिंह जनसेवक का निधन

पूर्व शिक्षा मंत्री अमरजीत सिंह जनसेवक (71) का निधन हो गया है। बताया जा रहा है कि ठंड लगने से...

यूपी में पांच आईपीएस अफसरों का तबादला। विपिन मिश्रा कानपुर में एडिशनल सीपी।

यूपी में पांच आईपीएस अफसरों का तबादला। विपिन मिश्रा कानपुर में एडिशनल सीपी। कमलेश दीक्षित डीसीपी...

#Kanpur News : जेके कैंसर बने रीजनल सेंटर, बढ़ेंगी सुविधाएं…

➡️चौथी बार उठी मांग, विधानसभा की याचिका कमेटी को दिया गया पत्र। कानपुर। जेके कैंसर को रीजनल सेंटर...

राज्यसभा चुनाव: सुधांशु त्रिवेदी, अमरपाल मौर्या और आरपीएन सिंह बीजेपी से प्रत्याशी, बीजेपी ने जारी की सूची

Rajya Sabha elections: राज्यसभा की दस सीटों के लिए होने वाले चुनाव में बीजेपी की तरफ से सुंधाशु...
Information is Life

कानपुर-उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का जहाँ एक ओर वन महोत्सव सप्ताह के अंर्तगत प्रदेश में 25 करोड़ पौधा लगवाने का संकल्प लेकर जगह-जगह पौधा रोपड़ करवा रहे है पर्यावरण सुरक्षित रहेगा, तो हम स्वस्थ रहेंगे। पर्यावरण को नुकसान से अनेक बीमारियां, मानव जीवन व जीव सृष्टि को त्रस्त करेंगी। ऐसी स्थिति से बचने के लिए हम सभी को ‘वन है तो जीवन है, जल है तो कल है’ का नारा दिया वही कानपुर में चन्द्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौघोगिकी विश्वविद्यालय (सीएसए) के अन्दर एक पुराने तालाब के जीणोद्धार के नाम पर 50 से अधिक हरे भरे पेड़ो का काट दिया गया

जिसका शहर के प्रसिद्ध होम्योपैथी चिकित्सक डॉ हेमन्त मोहन द्वारा कड़ा रोष जताया गया है उनका कहना है कि एक ओर जहाँ मुख्यमंत्री जी प्रदेश में पर्यावरण सप्ताह में दौरान करोड़ो पौधे लगवा रहे है वही तलाब सुंदरीकरण के नाम पर 50 से अधिक हरे पेड़ो को काट दिया गया एक पेड़ तैयार होने में कई वर्ष लगते है प्रदूषणकी समस्या से कानपुर का हर कोई पीड़ित है। लेकिन पेड़-पौधे लगाने के लिए लोगों के बीच जागरूकता नहीं फैलाई जा रही है। वहीं दूसरी ओर पेड़ों को काटने का सिलसिला जारी है। जितने पेड़ वर्षों पहले लगाए गए थे,उन्हें भी काटा जा रहा है। पेड़ों के लगातार कटने और वाहनों के बढ़ने से प्रदूषण इतना अधिक हो गया है कि जनजीवन अस्त-व्यस्त होता जा रहा है। इसका अंदाजा लोगों में बढ़ रही सांस की बीमारियों से लगता है। पेड़ कटने से आॅक्सीजन की कमी भी होती जा रही है। पेड़-पौधे लुप्त होने की वजह से हरियाली खत्म हो रही है। सभी लोगों को इस स्लोगन ‘खुशी हो गया गम, पेड लगायें हम’ के साथ एक पेड़ लगाने के लिए प्रेरित करना चाहिए। अगर हर कोई एक पेड़ लगाने का प्रयास करता है, तो पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाया जा सकता है।

गरीबों को रोजगार दिलाने को बना था तालाब :तालाब का निर्माण वर्ष 1837-38 में अकाल पडऩे पर गरीबों को रोजगार दिलाने के लिए कराया गया था। मजिस्ट्रेट आईसी विल्सन की निगरानी में तालाब का निर्माण कराया गया था। तालाब और उसके चारों तरफ सीढिय़ों का निर्माण कराया गया था। इसमें 12 हजार रुपये की धनराशि व्यय हुई थी। इस काम में कैदियों को भी लगाया गया था।


Information is Life