वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बजट भाषण।

🛑वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में कहा कि ‘सरकार एक करोड़ युवाओं को अगले...

दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में पेश किया आम बजट 2024-25

➡भारत में महंगाई दर करीब 4 फीसदी ➡भारतीय अर्थव्यवस्था चमक रही है ➡ग्लोबल इकॉनमी मुश्किल दौर में है...

Kanpur : रेलबाजार पुलिस की वाहन चोर से मुठभेड़…

कानपुर की रेलबाजार पुलिस और शातिर बदमाश में रविवार देर रात रेलबाजार लोको कॉलोनी में मुठभेड़ हो गई।...

प्रयागराज में पहली बार एके-47 से हुई थी विधायक की हत्या, आरोपी उदयभान करवरिया को मिली रिहाई

बालू ठेकों के वर्चस्व में प्रयागराज में पहली बार 1996 में एके-47 से हत्या की गई थी। सरकार बदली, तो...

सुनियोजित विकास को आगे बढ़ाने में सहायक होगी फैमिली आईडी : सीएम

विज्ञापन योगी ने की जिला घरेलू उत्पाद अनुमान (डीडीपी) 2022-23 पुस्तिका के आंकड़ों की समीक्षा वर्ष...

Kanpur News: ‘मुकदमा लो वापस वरना छाती पर पड़ेगी गोली’, बाइक सवार बदमाशों ने अधिवक्ता के घर की फायरिंग..

विज्ञापन Kanpur News: अधिवक्ता अश्वेंद्र सोनकर ने कहा कि उनका अशोक और सजल के साथ विवाद चल है....

‘सौ लाओ, सरकार बनाओ’, अखिलेश यादव के मॉनसून ऑफर ने बढ़ाया यूपी का सियासी पारा।

समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव लगातार यूपी की योगी सरकार पर हमला कर रहे हैं। अब अखिलेश ने...

कानपुर में सैकड़ों की संख्या में चल रहे अवैध हुक्का बार, नशा परिवारों को झोंक रहा तबाही के द्वार-ज्योति बाबा…

विज्ञापन कानपुर : विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के अनुसार तंबाकू का दूसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता और...

कानपुर में जमीनों का नया सर्किल रेट जारी, जमीन खरीदने के लिए अब इतनी ढीली करनी होगी जेब, देख लीजिए लिस्ट

विज्ञापन Kanpur New Circle Rate of Land: कानपुर में जमीनों के दाम में वृद्धि हो गई है। नए सर्किल...
Information is Life

कानपुर- किसान आंदोलन में भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत का बयान का वायरल वीडियो एक बार फिर चर्चा में है। ब्राह्मण समाज में भारी आक्रोश देखा जा रहा है। मंगलवार को अखिल भारतीय सर्व ब्राम्हण महासभा के पदाधिकारियों ने कानपुर जर्नलिस्ट क्लब में प्रेसवार्ता कर राकेश टिकैत का ब्राम्हणों के लिए दिए गए तथाकथित बयान की निंदा की महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेंद्र दुबे बोले कि यूपी में आसन्न विधानसभा चुनावों को दृष्टिगत रखते हुए जहाँ विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा अव्यवहारिक तरीके से प्रत्यक्ष व परोक्ष रूप से ब्राम्हणों को लुभाने का प्रयास किया जा रहा है। वही समाज में सक्रिय राकेश टिकैत जैसे किसान नेता आंदोलन का सहारा ब्राम्हण समाज के खिलाफ जहर उगल रहा है। जिससे ब्राम्हण समाज अपमानित अनुभव कर रहा है। उन्होंने टिकैत पर राजनीतिक स्वार्थ से प्रेरित होकर कुछ राजनीतिक दलों के हाथों की कठपुतली बनकर जाने अनजाने समाज का अहित कर रहे है।अखिल भारतीय सर्व ब्राम्हण महासभा ऐसे नेताओं के कृत्य की घोर निंदा करती है और महासभा ऐसे तत्वों के विरुद्ध जन जागरण अभियान चलाकर समाज मे बेनकाब करेंगी। महासभा ने योगी सरकार से मांग की है राकेश टिकैत के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की माँग की है।

क्या है वायरल वीडियो में।

दिल्ली में किसान आंदोलन के बीच पलवल में आयोजित किसानों की सभा का ये वायरल वीडियो दिसंबर 2020 का बताया जा रहा है वीडियो में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि “मंदिर वालों को रोज पूजा जा रहा है, लेकिन वो लोग एक भी दिन भंडारा लगाते नहीं नजर आए। ये लोग कहाँ हैं? इनसे भी हिसाब-किताब ले लो। इनका अता-पता ले लो। हमारी माँ-बहनें इन्हें जा-जा कर दूध दे रही हैं। ये लोग बदले में एक कप चाय भी नहीं पिला रहे हैं। इन सब लोगों को भी पता चलेगा।” टिकैत ने कहा कि “गाय का बच्चा हो या भैंस का, सबसे पहला दूध पंडित के यहाँ जाता है। लेकिन इनमें से एक भी (प्रदर्शन स्थल) पर कुछ नहीं भिजवा रहे। इनसे बढ़िया तो गुरुद्वारा ही है।”

अंत में पंडितों पर भड़कीले स्वर में कहा कि “देखो सुधर जाओ। पंडित भी सुधर जाओ, जो मंदिर में बैठे हैं। इन पर बहुत चढ़ावा है, इनसे हिसाब-किताब तो ले लो भाई। यहाँ एकाध भंडारा लगवा दो। हम कोई कृष्ण जी के ख़िलाफ़ थोड़ी हैं, लेकिन तुम भंडारा तो लगवाओ। सब हरिद्वार जा रहे हैं, मथुरा जा रहे हैं, एक भी पंडित यहाँ नहीं आ रहा। इलाज इनका सबका होगा। इनकी सबकी लिस्ट बनेगी।

टिकैत के इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद उन्होंने सफाई भी पेश की थी कि मेरे बयान का आशय मंदिर में पुजारी व ट्रस्ट से ,गुरुद्वारा ‘लंगर’ की भाति मंदिर के पुजारी व ‘ट्रस्ट’ भी आंदोलन मे अपने बैनर के साथ लंगर की सेवा प्रदान करने का आशय था, मेरे बयान को तोड़ मरोड़ कर अन्यथा न लिया जाए। वीडियो को एडिट कर गलत तरीके से पेश ना करें। आंदोलन सभी का है। यह आंदोलन आप सभी के द्वारा ही चलाया जा रहा है।


Information is Life